राजस्थान में मानसून पड़ा फीका

0
Monsoon rains in Rajasthan

जयपुर (सच कहूँ न्यूज)। राजस्थान में अब तक सामान्य से अधिक वर्षा हो चुकी है लेकिन फिलहाल मानसून के फीका पड़ जाने से किसानों को चिंता होने लगी है।
राजस्थान के दक्षिण भाग एवं उससे लगते गुजरात में चक्रवाती परिसंरचना के कारण राज्य में मानसून कमजोर पड़ा हुआ है और इस कारण हवाएं देश के उत्तर क्षेत्र में बने कम दबाव वाले क्षेत्र में पहुंच रही हैं और वहां बरसात हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार ऐसी स्थिति में प्रदेश में मानसून के फिर से सक्रिय होने में सप्ताह भर या इससे ज्यादा का वक्त लग सकता है। राज्य में जुलाई के प्रथम सप्ताह में मानसून के पहुंचने के बाद राजधानी जयपुर सहित कई स्थानों पर अच्छी बरसात हुई लेकिन बाद में फीका पड़ गया।

इससे प्रदेश में बुवाई कर चुके और अब बुवाई करने वाले किसानों की चिंता बढ़ने लगी है वहीं पाकिस्तान से सीमांत जिलों में हमला कर चुके टिड्डी दल मानसून की इस बेरुखी के चलते अधिक सक्रिय एवं पनप रहे है। इससे किसानों की चिंता और बढ़ने लगी है। हालांकि टिड्डी दलों के प्रति राज्य सरकार सतर्क है और कृषि मंत्री लाल चंद कटारिया इस पर नजर रखे हुए है।

कटारिया ने रविवार को प्रभावित जिलों के सभी कलेक्टरों को हालात पर नजर रखने तथा प्रभावित क्षेत्रों में रसायनिक छिड़काव करने के निर्देश दिए है। जल संसाधन विभाग के अनुसार राज्य में गत एक से तेरह जून तक सामान्य वर्षा 121 26 मिलीमीटर के मुकाबले 150 79 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है जो सामान्य से 24 3 प्रतिशत अधिक है। पिछले साल इस दौरान 135 45 मिलीमीटर बरसात हुई थी।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।