जजपा के 6 सहित 9 विधायकों पर एमएलए हॉस्टल के कमरों का किराया बकाया

0
MLA hostel outstanding rent on 9 MLAs including 6 JJP

स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता के टेबल पर पड़ी है फाइल

  • नोटिस निकाल तनख्वाह से की जा सकती है रिकवरी
  • जनवरी में 15 के करीब विधायकों ने किया था निपटारा
सच कहूँ/अश्वनी चावला चंडीगढ़। हरियाणा विधानसभा में जननायक जनता पार्टी से पहली बार चुनाव जीतकर पहुंचने वाले 10 में से 6 विधायकों ने एमएलए हॉस्टल में रहने के लिए कमरा तो ले लिए लेकिन वे इनका किराया जमा नहीं करवा रहे हैं। इस कारण अब हरियाणा एमएलए हॉस्टल की तरफ से जजपा के 6 एमएलए सहित कुल 9 विधायकों के खिलाफ कार्रवाई प्रारंभ कर दी गई है। इसके लिए फाइल हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता के टेबल तक पहुंच गई है। अब स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ही तय करेंगे कि इन विधायकों को डिफाल्टर घोषित करते हुए इनकी तनख्वाह से पैसे की रिकवरी की जाए या फिर इन्हें एक और मौका देते हुए नोटिस जारी किया जाए।  हरियाणा के नवनियुक्त विधायकों के लिए यह पहला मौका नहीं है, बल्कि इससे पहले इसी साल जनवरी में भी इस तरह का विवाद हुआ था। तब स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता के दखल के बाद उस विवाद का निपटारा करते हुए पैसों की भरपाई कर ली गई थी। लेकिन उसके बाद एक बार फिर से एमएलए हॉस्टल के कमरों का किराया नहीं देने के चलते फिर से विवाद उत्पन्न हो गया है। इस संबंध में दबी जुबान में जानकारी बाहर आ रही थी कि कुछ विधायकों ने फिर से कमरों का किराया नहीं दिया है, परंतु उन विधायकों का नाम सामने नहीं आ रहा था। इसके चलते सच कहूँ की तरफ से सूचना का अधिकार एक्ट का सहारा लेते हुए उन नामों की जानकारी मांगी गई तो कुल ऐसे 9 विधायकों के नाम सामने आए, जिसमें से 6 विधायक तो जननायक जनता पार्टी के ही निकले जबकि दो विधायक भाजपा के और एक विधायक कांग्रेस पार्टी से है।

भाजपा के 2 व कांग्रेस का 1 विधायक भी नहीं भर रहा पैसा

जननायक जनता पार्टी के अलावा प्रदेश सरकार का अभिन्न अंग माने जाने वाले भाजपा के दो विधायक इसमें शामिल हैं, जिन्होंने एमएलए हॉस्टल का किराया नहीं दिया है। वहीं कांग्रेस का भी एक विधायक भी शामिल है। भाजपा के विधायकों में जगदीश नायर और प्रवीण डागर शामिल है जबकि कांग्रेस के विधायक में कुलदीप वत्स शामिल हैं।

प्रदेश सरकार का मंत्री नहीं चुका रहा 5100 रुपए

प्रदेश सरकार के मंत्रीमंडल में शामिल जननायक जनता पार्टी कोटे से राज्य मंत्री अनूप धानक का नाम इन बकायेदारों की सूची में शामिल है। हैरानी की बात तो ये है कि राज्यमंत्री अनूप धानक के पास प्रदेश सरकार की एक आलीशान कोठी है और जिसमें वे रहते हैं। इसके बावजूद एमएलए हॉस्टल में उनके नाम पर कमरा बुक होता आया है। जिसका 5100 रुपए अनूप धानक की तरफ बकाया चल रहा है। जिसे अभी तक उन्होंने जमा नहीं करवाया है।

जजपा के सभी विधायक जल्द जमा कराएंगे किराया : रणधीर सिंह

जननायक जनता पार्टी के प्रदेश सचिव व प्रवक्ता रणधीर सिंह ने कहा कि इस मामले में उन्हें मुकम्मल जानकारी तो नहीं है कि किन कारणों के चलते यह पैसा विधायकों की तरफ बकाया है। लेकिन मेरा मानना है कि मार्च में लॉकडाउन होने के चलते विधायक कम ही चंडीगढ़ में आए हैं। ऐसे में पैसा बकाया होने के पश्चात वे भर नहीं पाए होंगे। लेकिन जल्द ही सभी पार्टी विधायकों का बकाया जमा करवा दिया जाएगा।

छोटी सी बात है,, जल्द हो जाएगा पैसा जमा : अनूप धानक

प्रदेश राज्य मंत्री अनूप धानक ने कहा कि यह तो छोटी सी बात है कि उनकी तरफ मात्र 5100 रुपये का कोई बकाया खड़ा है। इस संबंध में उन्हें किसी भी प्रकार के एमएलए हॉस्टल की तरफ से जानकारी नहीं दी गई थी, जिस कारण वह पैसा नहीं जमा करवा पाए। परंतु वह जल्द ही इस पैसे को जमा करवा देंगे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।