मिस्त्री गुरजंट सिंह दिल्ली गए ट्रैक्टरों की मुफ़्त में कर रहा मरम्मत

0
5
Mistry Gurjant Singh

मिस्त्री गुरजंट सिंह अब तक 12 -13 ट्रैक्टर कर चुका है ठीक

  •  दिल्ली गए किसानों के परिवारों को बेफिक्र रहने का गांव भैणीबाघा में स्पीकर में से दिया संदेश

सच कहूँ/सुखजीत मान मानसा। कृषि बिलों ने पंजाब के लोगों को एक कर दिया है जो किसान दिल्ली गए हैं। उनके परिवारों को यहां बेफिक्र रहने का संदेश दिया जा रहा है। नरमे की चुगाई जिनकी बाकी है, या गेहूं बीजने वाली है उनके खेतों में भी पीछे घरों में रहे किसान भाई काम करेंगे। विवरणों मुताबिक कृषि बिलों के खिलाफ दिल्ली में मोर्चा लगाने के लिए बड़ी संख्या में किसान गए हैं। यह संघर्ष लंबा चलने की आशंका जताते किसानों के पीछे घरों में रह गए परिवारों को किसी भी तरह की कोई दुख तकलीफ होने पर किसान नेताओं ने चिंता न करने की बात कही है।

परिवार में कोई समस्या हो तो वह संगठन के साथ संपर्क कर सकता है

आज गांव भैणीबाघा के श्री गुरूद्वारा साहब में से भारतीय किसान यूनियन एकता डकौंदा के ब्लॉक जनरल सचिव मक्खण सिंह की ओर से संदेश दिया गया कि ‘‘जो हमारे भाई दिल्ली कृषि कानूनों के विरोध में गए हैं, जमीनें बचाने के लिए अपना काम धंधा छोड़कर गए हैं, उनके परिवारों से अपील है कि जिस भी परिवार को कोई समस्या हो, कृषि सम्बन्धित कोई समस्या हो या परिवार में कोई समस्या हो तो वह संगठन के साथ संपर्क कर सकता है’’ किसान नेता ने बताया कि उन्होंने यह भी सूचना बोली है कि जो किसान भाई दिल्ली संघर्ष में गए हैं, उनके खेतों में गेहूं की बिजवाई रहती हो या नरमा चुगने वाला हो तो वह संगठन को बता सकता है, जिससे मोर्चे में गए किसानों पिछले कामों की कोई मानसिक पीड़ा न हो।

गांव भैणीबाघा की महिला नेता ने कहा कि गांव में से किसान नेता दूध और राशन आदि एकत्रित कर ला रहे हैं, जिससे दिल्ली पहुंचाया जा सके। इसके अलावा घरों में जाकर परिवारों का कुशलक्षेम भी पूछा जा रहा है।

मालवा ग्रुप आॅफ कॉलेज के जतिन्दर सोढी भी आए आगे

मालवा ग्रुप आॅफ कालेज सरदूलगढ़ के चेयरमैन जतिन्दर सिंह सोढी भी किसानी संघर्ष में मदद के लिए आगे आए हैं। चेयरमैन सोढी ने कहा है कि जो किसान संघर्ष के लिए दिल्ली गए हैं। पीछे उनके परिवार को कोई जरूरत हो तो वह उनको मिल सकता है, जिससे संभव मदद की जा सके। इसके अलावा उन्होंने दिल्ली जाने मौके रास्ते में हादसो का शिकार हुए गांव ख्याली चहलांवाली के किसान शहीद धन्ना सिंह की बेटी को अपने शैक्षणिक विभाग में मुफ़्त कोर्स करवाने की बात कही है। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्धित वह बाकायदा तौर पर परिवार को मिलकर अवगत करवाएंगे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।