सरसा, कैथल और यमुनानगर में बनेंगे मेडिकल कॉलेज

0
Medical colleges to be set up in Sirsa, Kaithal and Yamunanagar

रोहतक पीजीआई में शुरू होगा डीएम कार्डियोलॉजी पाठ्यक्रम (Medical colleges)

  • सीएम मनोहर लाल खट्टर ने दी मंजूरी

चंडीगढ़ (सच कहूँ ब्यूरो)। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राज्य में तीन नए मेडिकल कॉलेज स्थापित करने और पंडित भगवत दयाल शर्मा पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैडिकल साइंसेज (पीजीआईएमएस), रोहतक में डीएम कार्डियोलॉजी पाठ्यक्रम शुरू करने के लिए स्वीकृति प्रदान की है। इस संबंध में जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि यह तीन नए मेडिकल कॉलेज सरसा, कैथल और यमुनानगर जिलों में खोले जाएंगे। उन्होंने बताया कि सरसा जिले में मेडिकल कॉलेज हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, सरसा की भूमि पर स्थापित किया जाएगा, जबकि जिला कैथल में, मेडिकल कॉलेज की स्थापना ग्राम सरपनखेरी में की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिला यमुनानगर में, मेडिकल कॉलेज एक पंचायत की भूमि पर स्थापित किया जाएगा। प्रवक्ता ने बताया कि पंडित भगवत दयाल शर्मा पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैडिकल साईंसिस (पीजीआईएमएस), रोहतक में डीएम कार्डियोलॉजी पाठ्यक्रम मेडिकल काउंसिल ऑफ़ इंडिया के तहत संचालित होगा। उन्होंने बताया कि पंडित बीडी शर्मा पीजीआईएमएस, रोहतक में पहले से ही अलग से डीएम कार्डियोलॉजी पाठ्यक्रम शुरू करने के लिए मेडिकल काउंसिल ऑफ़ इंडिया की आवश्यकता के अनुसार सभी आवश्यक बुनियादी ढाँचे, उपकरण और पूर्णकालिक संकाय (फुल टाइम फैकल्टी) हैं। उन्होंने बताया कि पीजीआईएमएस, रोहतक पंडित बी डी शर्मा स्वास्थ्य आर्युविज्ञान विश्वविद्यालय, रोहतक से संबद्ध हरियाणा का शीर्ष शिक्षण चिकित्सा संस्थान है। संस्थान डीएम/एम.सीएच. जैसे विभिन्न विषयों और सुपर-स्पेशियलिटी में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के तहत चल रहा है।

मनेठी एम्स का जल्द शुरू होगा निर्माण

रेवाड़ी। हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने कहा कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), मनेठी के निर्माण के लिए जमीन की उपलब्धता पूरी हो गई है। अब इसके निर्माण कार्य को जल्द ही अमलीजामा पहनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि एम्स की स्थापना से क्षेत्र के लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे तथा मनेठी का नाम विश्व के मानचित्र पर होगा। सहकारिता मंत्री रेवाड़ी जिला के मनेठी गांव में उप-तहसील, मनेठी के नए कार्यालय का शुभांरभ करने उपरांत उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। डॉ. बनवारी लाल ने उन सभी लोगों का आभार प्रकट किया, जिन्होंने अपनी भूमि को एम्स निर्माण के लिए पोर्टल पर अपलोड किया।

नए पीएचसी और एसएचसी को मंजूरी

चंडीगढ़। हरियाणा में स्वास्थ्य आधारभूत संरचना के विस्तार को बढ़ावा देते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राज्य में एक नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) एवं एक उप-स्वास्थ्य केंद्र (एसएचसी) खोलने और एक उप-मण्डल सिविल अस्पताल, एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और एक उप-स्वास्थ्य केंद्र को अपग्रेड करने की स्वीकृति प्रदान की। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि उप-मण्डल सिविल अस्पताल, जगाधरी (यमुनानगर) को 60 बिस्तर से बढ़ाकर 100 बिस्तर वाला वाले अस्पताल में अपग्रेड करने का निर्णय लिया गया है। साथ ही, जिला पलवल में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, होडल को 50 बिस्तर वाले सिविल अस्पताल में अपग्रेड किया जाएगा। यह अस्पताल मौजूदा भवन से ही कार्य करेगा। प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने जगाधरी अस्पताल को अपग्रेड करने के लिए 18.14 करोड़ रुपये वार्षिक के अतिरिक्त वेतन बिल के साथ नए पदों के सृजन को स्वीकृति प्रदान की है। उन्होंने बताया कि पलवल सिविल अस्पताल के मामले में अतिरिक्त पदों पर 21.91 करोड़ रुपये वार्षिक का खर्च होगा।
उन्होंने बताया कि इसी प्रकार, जिला करनाल में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, ग्राम संभली को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में और जिला पानीपत में उप-स्वास्थ्य केंद्र, गांव उरलाना कलां को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में अपग्रेड किया जाएगा। प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने जिला पंचकूला के गाँव बत्तौड़ में एक नया उप-स्वास्थ्य केंद्र और जिला पलवल के ग्राम खंबी में एक नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने की स्वीकृति भी प्रदान की है।
अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।