दिल्ली एनसीआर

राज्यसभा ने किया मायावती का इस्तीफा मंजूर

नाराज मायावती ने मंगलवार शाम को राज्यसभा मेंबरशिप से दिया था इस्तीफा

नई दिल्ली: राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी ने बहुजन समाजवादी पार्टी सुप्रीमो Mayawati का इस्तीफा मंजूर कर लिया है। सदन में अपनी बात रखने का मौका नहीं मिलने से नाराज मायावती ने मंगलवार शाम को राज्यसभा मेंबरशिप से इस्तीफा दे दिया था। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही मायावती ने नोटिस देकर अपनी बात रखने की इजाजत मांगी थी। उपसभापति पीजे कुरियन ने उन्हें 3 मिनट का वक्त दिया। मायावती जब दलितों पर हमलों और सहारनपुर हिंसा पर बोलने लगीं तो बीजेपी सांसदों ने हंगामा शुरू कर दिया। शोर-शराबे और कुरियन के बार-बार रोकने पर भी वो 7 मिनट तक बोलती रहीं। जिसके बाद मायावती की उपसभापति से बहस भी हुई। सदन में ही इस्तीफे की धमकी देकर मायावती बाहर चली गईं। शाम को उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी (राज्यसभा के सभापति) से मिलकर उन्हें इस्तीफा सौंप दिया था।

Mayawati की कुरियन से हुई थी बहस

  • शून्यकाल नहीं है कि केवल तीन मिनट दिए जाएं। अपनी बात कहने के लिए ज्यादा समय दिया जाना चाहिए था।
  • कुरियन ने कहा कि मायावती को बोलते हुए सात मिनट हो गए हैं।
  • मायावती ने कहा कि उन्हें बोलने नहीं दिया जा रहा है तो सदन में रहने का कोई मतलब नहीं है।
  • कुरियन ने चर्चा के लिए विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद का नाम पुकारा।
  • आजाद ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्षों को अपनी बात कहने का मौका देने का भरोसा दिया था।
  • इसके बाद कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस के सदस्य भी सदन से बाहर चले गए।
  • बीएसपी के सतीशचंद्र मिश्रा मायावती के साथ राज्यसभा से बाहर गए लेकिन जल्दी ही वापस लाैटे।
  • बसपा के सदस्यों ने ‘दलितों की हत्याएं बंद करो’ के नारे लगाए।
  • समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने भी उनका साथ दिया।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top