कोरोना के खिलाफ जंग में मदद: मुर्कर तिथि से चार दिन पहले बिना भीड़-भाड़ सादगी से हुई शादी

0
Marriage
 पूज्य गुरु संत डॉ.गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां के पावन स्वरूप के समक्ष दिलजोड़माला डालते वर-वधू।

दुल्हा-दुल्हन बोले, सावधानी ही सबसे बड़ी सुरक्षा

सच कहूँ/अनिल-सुनील वर्मा
सरसा/गोरीवाला। करीब दो माह पूर्व जब कोरोना वायरस का प्रभाव देश में लेशमात्र भी दिखाई नहीं दे रहा था। उस समय 29 मार्च का दिन दुल्हा व दुल्हन परिवार द्वारा शादी समारोह के लिए मुकरर किया था और दोनों ही परिवारों ने शादी समारोह में लोगों को आमंत्रित करने के लिए एक हजार से अधिक लोगों को शादी कार्ड बांटकर आमंत्रित भी कर चुके थे। लेकिन कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए दूल्हा और दुल्हन परिवार ने मिलकर फैसला किया कि लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा सबसे पहले हैं, इसलिए उन्होंने शादी मुर्कर तिथि से चार दिन पहले 25 मार्च बुधवार को सम्पन्न करवाई गई। वो भी बिना किसी भीड़-भाड़ सिर्फ दिलजोड़ माला पहनाकर। दोनों परिवारों के इस निर्णय की सभी बुद्धिजीवियों द्वारा काफी सराहना की जा रही है।

29 मार्च को रखी गई थी शादी 

दरअसल पंजाब के अबोहर निवासी दुल्हे राकेश की शादी गोरीवाला निवासी डेरा श्रद्धालु गंगाराम इन्सां की पुत्री रचना के साथ 29 मार्च को रखी गई थी। लेकिन कोरोना वायरस के चलते देशभर में लागू हुए लॉक डाउन के चलते वर-वधू पक्ष परिवारों ने अपने सभी निर्धारित कार्यक्रमों को निरस्त करते हुए 25 मार्च को ही सादगी ढंग से बिना किसी कार्यक्रम के विवाह संपन्न करवाया।

कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए दुल्हन के निवास स्थान पर किसी भी रिश्तेदार को आमंत्रित नहीं किया गया और दुल्हा राकेश इन्सां भी केवल दो रिश्तेदारों के साथ दुल्हन रचना से शादी रचाने उनके आवास गोरीवाला पहुंचे और डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन शिक्षाओं पर चलते हुए अरदास का शब्द बोलकर व पूज्य गुरु जी के पावन स्वरूप के समक्ष एक-दूसरे ने दिलजोड़ माला पहनाकर शादी सम्पन्न करवाई। इस दौरान भंगीदास सत्यनारायण इन्सां,15 मैम्बर विनोद इन्सां, लाल चन्द इन्सां, इन्द्रमोहन इन्सां व गंगा राम इन्सां मौजूद रहे।

प्रधानमंत्री की अपील का अनुसरण करें

इस अवसर पर सच कहूँ संवाददाता से बातचीत करते हुए दुल्हे राकेश इन्सां ने कहा कि कोरोना वायरस का जिस तरह से भारत में फैलाव हो रहा है, इसके लिए सभी लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई अपील का अनुसरण करें। उनकी अपील के मद्देनजर उन्होंने बिना किसी रिश्तेदार के शादी की है।
जब संवाददाता द्वारा दुल्हन रचना से बात की गई तो उन्होंने बताया कि पूज्य गुरु जी ने संदेश भेजकर साध-संगत से सरकार का पूरा सहयोग करने की बात कही है। जिसके मद्देनजर उन्होंने भी बिना किसी मेहमानों को घर बुलाये सादगी से शादी की है। क्योंकि बचाव की सभी की सुरक्षा है। उन्होंने आमजन से अपनी दैनिक दिनचर्या में मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का फार्मूला फोलो करने व सैनिटाइज का प्रयोग करने का आह्वान किया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।