कासगंज मुठभेड़ में सिपाही की हत्या करने वाला मुख्य आरोपी मोती सिंह ढेर

0
64
Kasganj Encounter

कासगंज। उत्तर प्रदेश में कासगंज जिले के सिढ़पुरा क्षेत्र में आज तड़के पुलिस ने मुठभेड़ में सिपाही की हत्या करने वाले मुख्य आरोपी शराब माफिया मोती सिंह को ढेर कर दिया और उसके पास से उपनिरीक्षक से लुटी गयी पिस्टल भी बरामद कर ली। पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर ने रविवार को यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बतया कि नगला धीमर गांव निवासी एक लाख रुपये के इनामी हिस्ट्रीशीट और सिपाही की हत्या करने वाले मुख्य आरोपी मोती सिंह की तलाश में पुलिस की टीम दबिश दे रही थी। इसी क्रम में आज तड़के करीब साढ़े तीन बजे पुलिस मुठभेड़ वह घायल हो गया। घायल हिस्ट्रीशीटर को जिला अस्पताल भेजा गया, जहां चिकित्सकों ने उसे घोषित कर दिया। उसके पास से घायल पुलिस उपनिरीक्षक अशोक कुमार सिंह की पिस्टल भी बरामद कर ली। उन्होंने बताया कि मोती सिंह के खिलाफ 12 से अधिक मामले दर्ज थे। यह इलाके का हिस्ट्रीशीटर था।

गौरतलब है कि सिढपुरा इलाके में नौ फरवरी की शाम अवैध रुप से शराब बनाने की सूचना पर नगला धीमर गांव में गये देरोगा और कांस्टेबल पर शराब माफियाओं ने हमला कर सिपाही देवेंद्र कुमार कुर्की की हत्या कर दी थी। घटना में उपनिरीक्षक अशोक कुमार सिंह गंभीर रुप से घायल हो गये थे। घटना के अगले दिन तड़के काली नदी के पास पुलिस मुठभेड़ में मुख्य आरोपी माेती सिंह का भाई एलकार सिंह ढेर कर दिया गया था। इस मामले में कासगंज पुलिस ने कटरी में कॉम्बिंग के दौरान सिपाही देवेन्द्र की हत्या के मुख्य आरोपी मोती सिंह के मामा के लड़के गुड्डू और गिरफ्तार नवाब सिंह के पिता रामेस्वर को गिरफ्तार कर लिए गये थे। मुख्य आरोपी मोती पर एडीजी जोन आगरा ने एक लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।