मानवता भलाई कार्यों को समर्पित रहा पावन महापरोपकार दिवस

0
welfare work ,
  • पूज्य गुरु जी की ओर से 23 जरूरतमंदों को इम्यूनिटी पावर बढ़ाने की किटें व 23 बेरोजगार महिलाओं को दी गई सिलाई मशीनें
  • उपचाराधीन मरीजों के लिए पूज्य बापू मग्घर सिंह जी इंटरनेशनल ब्लड बैंक में बड़ी संख्या में किया रक्तदान
  • ऑनलाइन नामचर्चा का देश-विदेश की साध-संगत ने उठाया लाभ, सोशल डिस्टेसिंग सहित सरकार के नियमों का किया पालन

सिरसा। बुधवार को पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां का 30वां गुरुगद्दीनशीनी दिवस महापरोपकार दिवस देश और दुनिया में मानवता भलाई कार्यों के साथ मनाया गया। इस अवसर पर कोरोना से बचाव के लिए जहां 23 जरूरतमंदों को पूज्य गुरु जी की ओर से इम्यूनिटी पावर बढ़ाने की किट दी गई। वहीं 23 बेरोजगार महिलाओं को सिलाई मशीनें देकर स्वावलंबी बनने का मार्ग प्रशस्त किया। इस पावन अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने जरूरतमंद मरीजों के लिए रक्तदान भी किया। बता दें कि पूजनीय परम पिता शाह सतनाम जी महाराज ने 23 सितंबर 1990 को पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां को अपना रूप बनाकर गुरुगद्दी की बख्शिश की थी।

पावन महापरोपकार दिवस की खुशी शाह सतनाम जी धाम में 11 से 12 बजे तक एक घंटे कोरोना महामारी के चलते आॅनलाइन नामचर्चा का आयोजन किया गया। इस दौरान थर्मल स्कैनिंग, सेनेटाइजेशन के बाद हर श्रद्धालु ने डेरा सच्चा सौदा में प्रवेश किया। डेरा अनुयायियों ने मास्क लगाकर, सोशल डिस्टेसिंग सहित नियमों का पालन करते हुए नामचर्चा में हिस्सा लिया। इसके अलावा डेरा श्रद्धालुओं ने शाह सतनाम जी स्पेशलिटी अस्पताल स्थित पूज्य बापू मग्घर सिंह जी इंटरनेशनल ब्लड बैंक में पहुंचकर बड़ी संख्या में रक्तदान किया। कोरोना काल में बेरोजगार महिलाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए डेरा सच्चा सौदा की ‘आत्म सम्मानझ् मुहिम के तहत पूज्य गुरु जी की ओर से 23 जरूरतमंद महिलाओं को सिलाई मशीन दी गई।

वहीं 23 जरूरतमंदों को कोरोना महामारी के बचाने के लिए उनकी इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाने हेतु इम्यूनिटी किट बांटी गई। जिसमें काले चने, साबुन, मास्क, एमएसजी काढ़ा, बी कॉम्पलेक्स, विटामिन-सी टेबलेट शामिल है। शाह सतनाम जी धाम में आयोजित नामचर्चा में पूज्य गुरु जी के रिकॉर्डिड वचनों को चलाया गया, जिसे सोशल डिस्टेसिंग में बैठी साध-संगत ने एकाग्रचित होकर सुना। इसके अलावा हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश सहित विभिन्न राज्यों में ब्लॉक स्तर पर साध-संगत ने मास्क और सेनेटाइजर वितरण, जरूरतमंदों को राशन देकर और निराश्रयों के मकान बनाकर, पक्षी उद्धार हेतु उनके लिए घोंसले बनाकर दाना-पानी का प्रबंध किया, गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार की किटें देकर मानवता भलाई कार्यों को रफ्तार दी।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।