Madhya Pradesh Government Crisis : दो और विधायकों को भोपाल लाने की कवायद कांग्रेस की जारी

0
Madhya Pradesh Government Crisis
राज्य में दो सौ तीस सदस्यीय विधानसभा में आगर और जौरा सीट रिक्त हैं।

 बिसाहूलाल सिंह ने कमलनाथ सरकार के प्रति पूरा समर्थन जताया |

Madhya Pradesh Government Crisis

भोपाल (एजेंसी)। मध्यप्रदेश में एक सप्ताह से अधिक (Madhya Pradesh Government Crisis) समय से चल रहे सियासी घटनाक्रमों के बीच अब राज्य में सत्तारूढ़ दल कांग्रेस अपने दो और विधायकों को वापस यहां लाने की कोशिश में जुटी हुयी है। इस बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ रविवार रात दिल्ली रवाना हो गए। कांग्रेस के वरिष्ठ आदिवासी विधायक एवं पूर्व मंत्री बिसाहूलाल सिंह कल शाम यहां पहुंचे और मुख्यमंत्री निवास में कमलनाथ से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद एक फोटो भी सामने आया, जिसमें बिसाहूलाल सिंह, मुख्यमंत्री और अन्य कांग्रेस नेताओं के साथ दिखायी दिए। अभी दो विधायक हरदीप सिंह डंग और रघुराज कंसाना भी पिछले एक सप्ताह से ‘लापता’ हैं।

  • डंग ने तो विधानसभा की सदस्यता से अपना त्यागपत्र भी कथित तौर पर भेज दिया है।
  • कमलनाथ से मुलाकात के बाद बिसाहूलाल सिंह ने पत्रकारों से कहा कि वे ‘तीरथ’ करने गए थे।
  • सिंह को राज्य सरकार के एक मंत्री बंगलूर से विमान से यहां लाए हैं।

वहीं एक भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुयी है। वे हाल के दिनों में तीन चार मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष से मिल चुके हैं। त्रिपाठी का दावा है कि वे अपने विधानसभा क्षेत्र मैहर के विकास के संबंध में मुख्यमंत्री से मिले हैं। उनका कहना है कि उन्हें तो सिर्फ अपने क्षेत्र के विकास से मतलब है फिर चाहे भाजपा हो या कांग्रेस।

  • छह विधायकों को विशेष विमान से राज्य सरकार के दो मंत्री लेकर पहुंचे थे।
  • विधायकों ने प्रलोभन मिलने की बात से इंकार किया था।
  • राज्यसभा की तीन सीटों के लिए मतदान 26 मार्च को होगा ।

दूसरी ओर कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), दोनों ही दल राज्यसभा चुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों के चयन की कवायद भी कर रहे हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।