साइबर ठग ने लगाई लाखों की सेंध

0
Looted, Millions, Cyber Thugs, Investigation, Fraud, Crime, Rajasthan

पीड़ितों की शिकायत पर मामला दर्ज, जांच शुरु

जयपुर (सच कहूँ न्यूज)। राजधानी में आठ अलग-अलग थाना इलाके में साइबर ठग आठ लोगों के खाते में लाखों रुपए की सेंधमारी करना का मामला सामने आया है।

बजाज नगर थाना इलाके में एक महिला को बातों में फंसाया और टाटा सफारी कार लौटरी निकलने का झांसा देकर एक ठग ने खाते में साढे 33 हजार रुपए की नकदी खाते में डलवा ली। न तो कार मिली न ही रुपए । इसके चलते पीड़ित थाने पहुंचा और मामला दर्ज करवाया। पुलिस के अनुसार नीता शर्मा निवासी मधुवन कॉलोनी टोंक रोड बजाज नगर ने मामला दर्ज करवाया कि अज्ञात आरोपियों द्वारा होमशॉप 18 टीवी चैनल पर टाटा सफारी कार लौटरी में निकलने का झांसा देकर खाते में साढे 33 हजार डलवा लिए।

कांस्टेबल के खाते से निकले अस्सी हजार

गांधीनगर थाना इलाके में साइबर ठग ने खुद को बैंक अधिकारी बताते हुए एक कांस्टेबल के खाते की जानकारी लेकर एटीएम द्वारा अस्सी हजार रुपए की नकदी निकालने का मामला सामने आया है। पुलिस के अनुसार जगदीश पुत्र नानगराम निवासी हाल कांस्टेबल सीसीटीएन एस थाना गांधीनगर जयपुर ने मामला दर्ज करवाया कि एक जून को अज्ञात व्यक्ति ने फोन कर खुद को बैंक अधिकारी बताते हुए खाते की जानकारी ली और एटीएम द्वारा 80 हजार रुपए की नकदी निकाल ली।

दो खाते से निकाले तीन लाख

झोटवाडा थाना इलाके में नेटवर्किग से चिटिंग कर दो खाते से निकाले तीन लाख नौ हजार निकाले गए है। पुलिस के अनुसार दामोदर अग्रवाल निवासी सत्य नगर, खातीपुरा ने मामला दर्ज करवाया कि अज्ञात व्यक्ति नेटवर्किग से चिटिंग कर खाते से तीन लाख रुपए की नकदी निकाली गई है।
वहीं रविप्रकाश निवासी रैगरो का मोहल्ला झोटवाडा ने मामला दर्ज करवाया कि एक जून को अज्ञात व्यक्ति नेटवर्किग से चिटिंग कर खाते से नौ हजार रुपए की नकदी निकाली गई है।

नौकरी लगाने के नाम पर डलवाए एक लाख

रामगंज थाना इलाके में नौकरी लगवाने के नाम एक लाख रुपए की नकदी खाते में डलवाने का मामला सामने आया है। पीड़ित को जब इस धोखाधड़ी का पता चला तो वह थाने पहुंचा और आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया।
पुलिस के अनुसार राजकुमार नागर निवासी रामगंज ने मामला दर्ज करवाया कि अजय पाल सिह सहित अन्य ने नौकरी में लगाने का झांसा देकर एक लाख रुपए खाते में डलवा लिए। न तो नौकरी लगवाई न ही रुपए वापस दिए।

एटीएम की जानकारी प्राप्त कर निकाले तीस हजार

कोतवाली थाना इलाके में एटीएम कार्ड की जानकारी प्राप्त एक व्यक्ति के खाते से तीस हजार रुपए की नकदी निकाली गई है। इस संबंध में पीडित थाने पहुंच कर मामला दर्ज करवाया। पुलिस के अनुसार भिण्डो का रास्ता मदन मोहन माथुर ने मामला दर्ज करवाया कि उसके पास 25 मई को एक कॉल आया जिसने खुद को बैंक अधिकारी बताते हुए एटीएम की जानकारी प्राप्त कर खाते से दो बार में तीस हजार रुपए की नकदी निकाल ली।

क्रेडिट कार्ड से किए तीन हजार रुपए ट्रांजेक्शन

विधाधर नगर थाना इलाके में एक शातिर ठग युवती ने एक व्यक्ति को बातों में फंसा कर खाते की जानकारी लेकर क्रेडिट कार्ड से करीब तीन हजार रुपए का ट्रांजेक्शन कर लिया। पुलिस के अनुसार दाना शिवम हास्पीटल टाईम स्कावयार के रहने वाले जयदेव ने मामला दर्ज करवाया कि 22 मई को उसके मोबाइल फोन पर नेहा नाम की लड़की ने फोन किया । जिसने क्रेडिट कार्ड की जानकारी मांगी और तीन हजार रुपए ट्रांजेक्शन लिए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

इनाम जितने के नाम पर ली कार्ड की डिटेल

विधाधर नगर थाना इलाके में 75 हजार रुपए का इनाम जितने के नाम पर एक ठग ने एक व्यक्ति ने एटीएम कार्ड की डिटेल लेकर खाते से नौ हजार रुपए की नकदी निकाल ली। पीड़ित को वारदात का पता मोबाइल पर आए मैसेज से चला तो वह थाने पहुंचा और मामला दर्ज करवाया।

पुलिस के अनुसार गजल उपाध्याय निवासी विद्याधर नगर सेक्टर -2 ने मामला दर्ज करवाया कि अज्ञात व्यक्ति ने उसे फोन कर कहा कि उसे 75 हजार रुपए की राशि का इनाम निकला है इसे लेने के लिए खाते की जानकारी बतानी होगी, जिससे खाते में रुपए आ जाएगे। इस पीड़ित उसकी बातों में आ गया अपने एक्सिस बैंक के कार्ड की डिटेल बता दी। कुछ देर बाद उसके मोबाइल पर मैसेज आया कि उसके खाते से नौ हजार रुपए की नकदी निकाली गई है।

निवेश के करने के नाम पर डलवाए एक लाख 15 हजार

सांगानेर सदर थाना इलाके में किसी कम्पनी में निवेश के नाम पर एक व्यक्ति ने अपने खाते में एक लाख 15 हजार रुपए डलवा लिए। जब पीड़ित को इस धोखाधड़ी की पता चला तो वह थाने पहुंचा और मामला दर्ज करवाया। पुलिस के अनुसार मोहम्मद इस्तियाक खान निवासी सीतापुरा रिको एरिया ने मामाल दर्ज करवाया कि आरोपी फोरेस्ट हैरी नाम के एक व्यक्ति ने इम्पीरियल आयल कपंनी में निवेश करने के नाम पर 1 लाख 15 हजार रुपये अपने खाते में जमा करवा लिए। न तो निवेश का कोई लाभ मिला न ही रुपए। इस चलते पीड़ित ने पुलिस की शरण ली।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।