Breaking News

खट्टर ने झोंकी पूरी ताकत, लोकसभा चुनाव में चाहते हैं ‘मनोहर’ नतीजे

Lok Sabha election

-उम्मीदवारों को जिताने के लिए खुद संभाली कमान, रोजाना कर रहे हैं रैलियां

चंडीगढ़ सच कहूँ/अश्वनी चावला। लोकसभा चुनाव की हरियाणा में 10 सीटों को लेकर मनोहर लाल खट्टर ने अपनी पूरी ताकत अभी से चुनाव के मैदान में झोंक दी है। मनोहर लाल खट्टर इन लोकसभा चुनाव में अपने नाम के अनुसार ही नतीजे ‘मनोहर’ चाहते हैं ताकि आने वाले विधानसभा चुनाव में उनकी कार्यप्रणाली व जिम्मेवारी पर कोई उंगली ना उठा सके। भले ही हरियाणा में होने वाले चुनाव को अभी लगभग 25 दिन से ज्यादा का समय पड़ा है परंतु फिर भी मनोहर लाल खट्टर आखिरी दिनों में सरगर्म होने के बजाय अभी से पूरी सरगर्मी के साथ चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं।

हरियाणा में संगठन की जिम्मेवारी अलग कंधों पर होने के बावजूद भी मनोहर लाल खट्टर संगठन के पदाधिकारियों के चुनाव प्रचार के भरोसे नहीं बैठना चाहते हैं जिस कारण ही रोजाना रैलियां करने के साथ चंडीगढ़ अपनी कोठी में वह दिन-रात मीटिंग करने में लगे रहते हैं यहीं से उनकी अगली रणनीति तय होने के साथ-साथ रोजाना हर उम्मीदवार के चुनाव प्रचार व उनकी स्थिति के बारे में रिपोर्ट तैयार होती है। जिसको देखने के पश्चात खट्टर अपनी अगली रणनीति तैयार कर रहे।

चुनावी परीक्षा को शत् प्रतिशत सफल करना चाहते हैं खट्टर

लोकसभा चुनाव में पहली बार बतौर मुख्यमंत्री प्रचार करने वाले मनोहर लाल खट्टर इस परीक्षा में किसी भी हालत में फेल नहीं होना चाहते हैं। इसलिए वह ज्यादा से ज्यादा कठोर परीक्षण करते हुए इस परीक्षा को शत शत-प्रतिशत सफल करने की कोशिशों में जुटे हुए हैं। मनोहर लाल खट्टर भली-भांति जानते हैं कि केंद्र के 5 साल और राज्य के साढेÞ 4 साल के कार्यकाल में सरकार के खिलाफ कहीं ना कहीं एंटी इनकंबेंसी का असर देखने को जरूर मिलेगा। इसलिए वह इस एंटी इनकंबेंसी के असर को खत्म करने के लिए ही खुद ज्यादा प्रचार में लगे हैं। उन्हें उम्मीद है कि उनके चुनाव प्रचार के मैदान में होने के चलते भाजपा उम्मीदवारों को फायदा जरुर होगा।

हरियाणा में होगी तीन बड़ी रैलियां

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भाजपा के बड़े लीडरों के साथ हरियाणा में तीन बड़ी रैलियों करने का विचार कर रहे हैं। इन बड़ी रैलियों में अमित शाह सहित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी लाने के बारे में विचार चल रहा है हालांकि नरेंद्र मोदी इन 3 रैलियों से एक रैली में ही नजर आएंगे परंतु इस एक रैली के सहारे ही भाजपा हरियाणा में इतना से ज्यादा फायदा उठाने की कोशिश में लगी हुई है।

उम्मीदवारों का विरोध न होना राहत की खबर

मनोहर लाल खट्टर के लिए सबसे बड़ी राहत की खबर तो यह है कि अभी तक हरियाणा में किसी भी उम्मीदवार को लेकर कोई भी ज्यादा विरोध नहीं हुआ है। जिसके चलते उस लोकसभा हल्के में भाजपा को अपने ही पार्टी के किसी लीडर से नुकसान होने वाली आशंकाएं लगभग खत्म होती नजर आ रही हैं। इसका फायदा कहीं न कहीं भाजपा को ही चुनावों में होने वाला है।

 

 

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top