लहरागागा हत्या गुत्थी सुलझी, पत्नी व मौसी का लड़का गिरफ्तार

0
19
Lehraaga-murder-case

मृतक की पत्नी व मौसी के लड़के ने फिल्मी अंदाज में दिया घटना को अंजाम

  • 8:28 मिनट पर कालोनी में गए, कत्ल कर 9:28 बजे वापस लौटे

संगरूर/लहरागागा (सच कहूँ/गुरप्रीत सिंह)। लहरागागा में 10 नवंबर की रात को शिवम कालोनी में हुए अमनदीप सिंह के कत्ल मामले की गुत्थी को सुलझा लिया है। पुलिस ने मृतक की पत्नी व उसके मौसी के लड़के को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को गुमराह करने के लिए मृतक की पत्नी ने अपने पति को उसके मौसा समेत छह व्यक्तियों द्वारा अपहरण करके मौत के घाट उतारने का मामला दर्ज करवाया था, जबकि पुलिस ने शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की मदद से दो दिन की पड़ताल उपरांत असल हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर कत्ल केस का पदार्फाश किया।

एसपी (डी) हरप्रीत सिंह संधू ने बताया कि मृतक अमनदीप सिंह की पत्नी रमनदीप कौर व मौसी के लड़के रमनदीप सिंह ने इस हत्या को अंजाम दिया। अक्सर अमनदीप सिंह व रमनदीप कौर में मौसी के लड़के को लेकर झगड़ा होता था। अमनदीप सिंह ने अपनी पत्नी रमनदीप कौर की कई बार पिटाई भी की थी, जिसकी जानकरी उसने रमनदीप सिंह को दे दी। इस कारण आरोपी अमनदीप सिंह को मौत के घाट उतारना चाहता था।

अमनदीप सिंह के सिर पर तेजधार कुलहाड़ी से रमनदीप सिंह ने प्रहार करके उसका सिर दो फाड़ कर दिया

हत्या की रात करीब आठ बजे के बाद मृतक अमनदीप सिंह उर्फ हैपी निवासी गोबिंदपुरा पापड़ा हाल आबाद वार्ड नंबर-13 लहरा एक टैंट हाउस पर बैठा था, जहां उसकी मौसी का लड़का 26 वर्षीय रमनदीप सिंह उर्फ राजू निवासी भुटाल कलां उसके पास आया व क्राउंन कंपनी में लगाए पैसों के बारे में बैठकर बातचीत करने के लिए अमनदीप सिंह से कहने लगा। अमनदीप सिंह ने अपनी स्कूटी पर रमनदीप सिंह को बैठा लिया व दोनों लहरागागा की पंजाबी कालोनी के पीछे मौजूद बेआबाद शिवा कालोनी में पहुंचे। इस दौरान हत्या को अंजाम देने के लिए रमनदीप सिंह ने अपनी लोई में छोटी कुल्हाड़ी व लाल मिर्च पाउडर छुपाकर रखा हुआ था।

शिवा कालोनी में पहुंचने पर अमनदीप सिंह के सिर पर तेजधार कुलहाड़ी से रमनदीप सिंह ने प्रहार करके उसका सिर दो फाड़ कर दिया। इस दौरान अमनदीप सिंह ने भी कुलहाड़ी छीनकर रमनदीप सिंह पर वार किया था, जिससे रमनदीप को भी चोट लगी। 9:28 बजे रमनदीप सिंह मृतक अमनदीप सिंह की स्कूटी लेकर वापस कालोनी से अकेला बाहर निकला।

खुद ही सड़क किनारे लेट गया, फिर अस्पताल में भर्ती

एसपी हरप्रीत सिंह ने बताया कि हत्यारा रमनदीप सिंह हत्या को अंजाम देकर 9:28 मिनट पर कालोनी से बाहर निकला और सड़क किनारे स्कूटी गिराकर सड़क पर लेट गया, ताकि यह घटना नहीं, एक सड़क हादसे लगे। राह चलते कार सवारों ने जब उसे सड़क पर लेटा देखा तो हादसे की सूचना देने के लिए थाने जा पहुंचे। इस दौरान अमनदीप सिंह के अपहरण की सूचना भी मृतक की मासी रमनदीप कौर की मदद से पुलिस को दी। मौके पर जब पुलिस पहुंची बेआबाद कालोनी से अमनदीप सिंह की लाश बरामद की। रमनदीप कौर ने पुलिस को बयान दिए कि अमनदीप सिंह के मौसा मलकीत सिंह बलरां, जसवीर सिंह, सतपाल सिंह सत्ती, बलजिदर सिंह उर्फ जस्सी, कुलवीर कौर निवासी लालियांवाली ने अमनदीप का अपहरण करके कत्ल किया है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।