कन्या भू्रण हत्या पर अंकुश लगाने के लिए कुरुक्षेत्र को मिला राष्टÑीय पुरस्कार

0
National Award KUK

कुरुक्षेत्र(सच कहूँ, देवीलाल बारना)। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं राष्टÑीय कार्यक्रम के तहत कन्या भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध को रोकने और लिंगानुपात की स्थिति में जबरदस्त सुधार लाने के लिए पीसीपीएनडीटी एक्ट को सख्ती से लागू करने पर राष्टÑीय बालिका दिवस समारोह में भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा जिला कुरुक्षेत्र को राष्टÑीय अवार्ड से नवाजा गया है।

यह पुरस्कार केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने नई दिल्ली में उपायुक्त डा. एसएस फुलिया को प्रदान किया है। इस पुरस्कार को हासिल करने वालों में उपायुक्त के अलावा पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र पाल सिंह, सीएमओ डॉ. सुखबीर सिंह भी शामिल थे। वीरवार को नई दिल्ली स्थित प्रवासी भारतीय केन्द्र में राष्टÑीय बालिका दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के तहत कुरुक्षेत्र सहित देश के विभिन्न जिलों को बेहतर कार्य करने पर मंत्रालय की तरफ से सम्मानित किया।

इस सम्मान समारोह में केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी के अलावा केन्द्रीय राज्यमंत्री डॉ. विरेन्द्र कुमार, हरियाणा की महिला एवं बाल विकास मंत्री कविता जैन, महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव राकेश श्रीवास्तव व संयुक्त सचिव के मौसेस भी उपस्थित थे। उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने इस राष्टÑीय सम्मान के लिए सभी अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि सभी के सांझे प्रयासों से कुरुक्षेत्र जिले को यह उपलब्धि मिली है और भविष्य में भी पीसीपीएनडीटी एक्ट के साथ-साथ बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम को बेहतर ढ़ंग से अमलीजामा पहनाने का काम किया जाएगा।

116 लोग पहुंच चुके सलाखों के पीछे | National Award KUK

इस जिले में कन्या भ्रूण जांच व हत्या करने वाले लोगों के खिलाफ जंग को शुरु किया और सार्थक परिणाम सामने आए। उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 से लेकर अब तक पीएनडीटी एक्ट के तहत 18 और एमटीपी एक्ट के तहत भी 18 ही मुकदमे दर्ज करवाए जा चुके है। इन मुकदमों के तहत 116 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इस जिले में वर्ष 2016 में लिंगानुपात 859 था और अब लिंगानुपात का आंकड़ा 924 पर पहुंच गया है।

यूपी व पंजाब में भी की गई रेड

कुरुक्षेत्र जिले में कन्या भ्रूण हत्या को रोकने, भ्रूण की जांच करवाने वाले लोगों को पकडन के लिए उतरप्रदेश व पंजाब में भी कई जगह रैड की और लोगों को गिरफ्तार किया। इस उपलब्धि के लिए पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र पाल सिंह और उनकी टीम के साथ-साथ सीएमओ सुखबीर सिंह, डिप्टी सीएमओ आरके सहाय सहित पूरी टीम के अधिकारियों और कर्मचारियों का अहम योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र जिले में आगे भी सभी अधिकारी और विभाग सांझे प्रयासों से कुरुक्षेत्र को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के तहत और आगे लेकर जाएंगे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।