नेत्रदान व शरीरदान कर अमर हो गए कृष्ण कुमार गर्ग इन्सां

0
229
Krishna-Kumar-Garg

प्रेरणादायक। इस जहां से रूखस्त होकर भी समाज के काम आ रहे ‘इन्सां’

  •  अग्रोहा मेडिकल कॉलेज, जिला हिसार के स्टूडेंट करेंगे पार्थिव देह पर रिसर्च
  •  शाह सतनाम जी स्पेशलिटी हॉस्टिपल में हुए नेत्रदा

सच कहूँ/सुशील कुमार सरसा। डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां द्वारा चलाई गई ‘अमर सेवा’ मुहिम के तहत शनिवार को सरसा में एक और शरीर दान हुआ। शाह सतनाम जी स्पेशलिटी हॉस्टिपल के डॉ. स्वप्निल गर्ग व रमणीक गर्ग के पिता कृष्ण कुमार गर्ग के मरणोपरांत उनके पार्थिव शरीर को रिसर्च के लिए परिजनों ने अग्रोहा मेडिकल कॉलेज जिला हिसार को दान किया। जबकि उनके नेत्र शाह सतनाम जी स्पेशलिटी के ‘आई बैंक’ में डोनेट किए गए। जो दो अंदेरी जिन्दगी को रोशनी देने का काम करेंगे।

शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग के जवानों ने नम आँखों से दी अंतिम विदाई

डॉ. स्वप्निल इन्सां ने बताया कि उनके पिता कृष्ण कुमार गर्ग इन्सां ने जीते जी पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन शिक्षा का अनुसरण करते हुए शरीरदान व नेत्रदान करने का संकल्प लिया हुआ था। बता दें कि गत दिवस कृष्ण कुमार गर्ग इन्सां अपनी स्वांसों रूपी पूंजी पूर्ण कर सतगुरु के चरणों में जा विराजे। उनकी अंतिम इच्छा को पूरा करते हुए परिवारिक सदस्यों द्वारा नेत्र और शरीरदान किया गया। इस मौके पर पार्थिव देह को फूलों से सजी एंबुलेंस में शाह सतनाम जी स्पेशिलिटी अस्पताल से शाह सतनाम जी धाम तक लाया गया और ‘शरीरदानी कृष्ण कुमार इन्सां अमर रहे’ के नारों से उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

इस मौके पर शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग के जवान, शाह सतनाम जी स्पेशलिटी हॉस्टिपल के चिकित्सक, रिश्तेदारों व परिवारिक सदस्यों ने पावन नारा ‘‘धन-धन सतगुरु तेरा ही आसरा’’ का पवित्र नारा बोल कर फूलों से सजी एम्बूलेंस में कृष्ण कुमार गर्ग की पार्थिव देह को अंतिम विदाई दी। बता दें कि कृष्ण कुमार गर्ग इन्सां का पूरा परिवार दशकों से डेरा सच्चा सौदा के साथ जुड़ा हुआ और परिवार का प्रत्येक सदस्य दरबार का अनथक सेवादार है और मानवता भलाई कार्यों में हमेशा आगे रहता है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।