किसान हवा सिंह इन्सां की पार्थिव देह मेडिकल रिसर्च हेतु दान

0
17
Body-Donated

पूज्य गुरु जी की प्रेरणाओं पर चलते हुए लिया था प्रण

  • पौधारोपण सहित मानवता भलाई कार्यों में रहते थे आगे

नारनौंद। डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी न सिर्फ जीते जी बल्कि इस जहां से रूखस्त होकर भी इन्सानियत के काम आते हैं। इसी कड़ी में सचखंडवासी किसान हवा सिंह इन्सां (77)की पार्थिव देह परिजनों ने नेशनल कैपिटल विजन इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल सार्इंस हापुड़ को रिसर्च के लिए दान कर दी। वे अपने पीछे एक पुत्र और चार पुत्रियां छोड़ गए हैं।  नारनौंद निवासी धीरज ने बताया कि उसके पिता 77 वर्षीय हवा सिंह इन्सां वीरवार को अपनी स्वांसों रूपी पूंजी पूर्ण कर कुल मालिक के चरणों में जा विराजे। धीरज ने बताया कि पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन प्रेरणाओं पर चलते हुए उनके पिता हवा सिंह इन्सां ने मरणोपरांत मेडिकल रिसर्च हेतु शरीर दान का प्रण लिया हुआ था।

Body-Donated-

उन्होंने बताया कि इसी के चलते उनके पिता की पार्थिव देह दान करने के लिए नेशनल कैपिटल विजन इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल सार्इंस हापुड़ से संपर्क किया गया। इसके बाद वहां से डॉक्टरों की टीम नारनौंद पहुंची। तत्पश्चात सचखंडवासी हवा सिंह इन्सां की अर्थी को उनकी चारों बेटियों ने कंधा दिया और पार्थिव देह को एंबुलेंस में हापुड़ के इंस्टीट्यूट मेडिकल सार्इंस के लिए रवाना किया। जहां मेडिकल के छात्र रिसर्च कर सकेंगे। इस मौके पर बड़ी संख्या में साध-संगत, उनके रिश्तेदारों और सगे संबंधियों ने सचखंडवासी हवा सिंह इन्सां को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

बता दें कि सचखंडवासी हवा सिंह इन्सां अपने हर जन्म दिवस पर सर्वजनिक स्थानों पर पौधारोपण करते थे और अन्य ग्रामीणों को भी जागरूक करते थे। आज वे भले इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनके द्वारा लगाए सैकड़ों पेड़-पौधे समाज को स्वच्छ वायु की सौगात दे रहे हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।