Breaking News

हम भगत सिंह को मानते हैं, खट्टर राज से डरते नहीं: जयहिन्द

Khattar is not afraid of the king: Jai Hind

-आप के प्रदेशाध्यक्ष बोले, सरकार की दबंगई को लेकर जाएंगे उच्च न्यायलय

-सोशल मिडिया पर पूर्णत: पाबंदी लगाने का लगाया आरोप

सरसा (सच कहूँ न्यूज)। फेक न्यूज के फर्जी केस के मामले पर आप कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर पर हमला बोलते हुए आम आदमी पार्टी प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद ने कहा कि मुख्यमंत्री अपने विभाग का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि सीएम पुलिस के कंधे पर बंदूक रख कर गोली चला रहे हंै। खुद पुलिस का कहना कि उन्हें भी नही पता कि आप नेता हरपाल व तरसेम को क्यों उठाया गया, उपर से दबाव आया है इनके खिलाफ कार्यवाही करने के लिए।

जयहिन्द ने कहा, हम भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, नेता जी सुभाष चन्द्र बोस को मानने वाले हैं, हम खट्टर राज से डरने वाले नहीं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री फेसबुक को फांसी देना चाहते हंै और सोशल मिडिया पर पूर्णत: पाबंदी लगाना चाहते हैं। इस मौके पर सोशल मीडिया हेड कुलदीप कादयान, लोकसभा संगठन मंत्री कल्याण सिंह, जगदेव सिंह सिद्धू, दर्शन कौर, तरसेम जिंदल, राकेश जैन, कार्तिक शर्मा, मोनू शर्मा, अंकुश शर्मा आदि पदाधिकारी मोजूद रहे।

भाजपा खुद है झूठी खबरों की फक्ट्री

जयहिंद के कहा कि अपने तानाशाही रवैये से सोशल मीडिया में आम लोगों की आवाज दबाने का असफल प्रयास कर रहे हैं। जिस तरह कि ओछी मानसिकता के साथ मुख्यमंत्री ने आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ हिटलरी रवैया अपना कर गिरफ्तार किया है उससे आम आदमी का मनोबल ओर बढ़ेगा न कि आम आदमी पार्टी का कार्यकर्ता झुकेगा, डरेगा। उन्होंने कहा कि हम सरकार को इसी तरह से एक्सपोज करते रहेंगे। जयहिंद ने कहा कि उनकी पार्टी द्वारा खुलेआम जातिवाद का प्रपंच रचा जा रहा है। अगर जनता इस पर अपनी प्रतिक्रिया देती है तो मुख्यमंत्री को वो फेक न्यूज लगती है। मुख्यमंत्री पहले अपने गिरेबान में झांक कर देखिये। झूठी खबरों की फक्ट्री तो भाजपा है।

मुख्यमंत्री मांगे माफी

खट्टर सरकार की इस दबंगई के मामले को लेकर उच्च न्यायलय में जाएंगे। उन्होंने कहा कि जिस विज्ञापन को फेसबुक और ट्विटर पर डालने के आरोप में आप कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है वह खुद मुख्यमंत्री द्वारा जारी किया गया था। इसलिए मुख्यमंत्री को हरियाणा के लोगों से माफी मांगते हुए इस विज्ञापन को वापिस लेना चाहिए और किये गये गिरफ्तार कार्यकर्ताओं को बाइज्जत रिहा करना चाहिए।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top