Delhi violence: दिल्ली हिंसा पर मोदी, शाह, डोभाल की कड़ी नजर

0
Delhi violence

5 जगहों पर लगातार तीसरे दिन हिंसा, 3 मीडियाकर्मियों समेत 200 घायल (Delhi violence)

  • शाह ने की उच्चस्तरीय बैठक, बैजल की लोगों से शांति बनाये रखने की अपील

नई दिल्ली (एजेंसी)। दिल्ली हिंसा मामले में हाई कोर्ट में फिर से सुनवाई शुरू हो गई है। हाई कोर्ट ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि दिल्ली में दूसरे ‘1984’ को नहीं होने देंगे।(Delhi Violence) 1984 में सिख दंगा हुआ था, जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए थे। इससे पहले दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को फटकार लगाया और बीजेपी नेताओं का वीडियो देखा गया। कोर्ट ने कहा कि हिंसा को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए जाने की जरूरत है, ये भरोसा होना चाहिए कि आप सुरक्षित हैं।

  • उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हालात बदतर होते जा रहे हैं।
  • नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के नाम पर दिल्ली की सड़कों पर शुरू हुआ बवाल अभी तक थमा नहीं है।
  • पिछले तीन दिनों में देश की राजधानी दिल्ली के कई इलाकों में हिंसा हुई है।
  • जिसमें अभी तक 20 लोगों की जान चली गई है।
  • उत्तर पूर्वी दिल्ली के मौजपुर-चांदबाग इलाके में हालात इतने बेकाबू हुए कि दिल्ली पुलिस को मार्च निकालना पड़ा।

दिल्ली के हिंसा प्रभावित क्षेत्रो में मेट्रो स्टेशन खुले, डोभाल ने लिया जायजा

 उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसक घटनाओं के कारण बंद किये गए सभी मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश और निकास द्वार बुधवार को खोल दिये गये हैं और हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने आज ट्वीट किया, ‘बंद किये गए सभी मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश और निकास द्वार खोल दिए गए हैं और सभी स्टेशनों पर सामान्य सेवाएं बहाल हो गई हैं।

  • डीएमआरसी ने जानकारी दी थी कि जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्कलेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन बंद कर दिये गये हैं
  • वेलकम मेट्रो स्टेशन के आगे मेट्रो नहीं जा रही है।
  • राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल मंगलवार देर रात स्थिति की समीक्षा के लिए सीलमपुर इलाके में गये।
  • उत्तर-पूर्वी दिल्ली के उपायुक्त के दफ्तर जाकर हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की।
  • स्थिति को सामान्य करने के लिए उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए गए हैं और पुलिस के साथ अर्द्धसैनिक बल की 35 कंपनियां तैनात की गयी है।

राजधानी दिल्ली हिंसा पर मोदी, शाह, डोभाल की कड़ी नजर

राजधानी दिल्ली में पिछले तीन दिनों से जारी हिंसक घटनाओं में 20 लोगों के मारे जाने और दो सौ से अधिक घायल होने की घटना को केंद्र सरकार ने गंभीरता से लिया है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्थिति की समीक्षा की है तथा गृहमंत्री अमित शाह एवं राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। इस बीच शाह ने दिल्ली के हालात को देखते हुए विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ बैठक भी की है और शांति बनाने में सहयोग देने की अपील की है। श्री डोभाल ने आज दोपहर बाद उत्तर पूर्वी दिल्ली पुलिस उपायुक्त के कार्यालय पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया और मौजपुर समेत कुछ अन्य हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया।

मोदी ने हिंसक घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए दिल्ली के लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की

उन्होंने स्थानीय लोगों से बातचीत की और उनका हालचाल जाना। उनके साथ पुलिस के आला अफसर भी मौजूद थे। इस दौरान सड़कें सूनी थी और दुकानें बंद पड़ी थी। इससे पहले उन्होंने कल देर रात भी जिले का दौरा किया था। मोदी ने हिंसक घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए दिल्ली के लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की है। हालात को नियंत्रित करने के लिए पूरे उत्तर पूर्वी जिले में अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है और उपद्रवियों पर नजर रखने के लिए ड्रोन से भी निगरानी रखी जा रही है। हिंसा से सबसे अधिक प्रभावित जाफराबाद की कुछ गलियों में पुलिस की ओर से लोगों को घरों में रहने की मुनादी की गयी है और कहा गया है कि इस इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।