मॉनसून में खुद को रखें बीमारियों से दूर

0

बारिश के मौसम का हर कोई इंतजार करता है क्योंकि यह आपको गर्मी के प्रकोप से राहत दिलाता है। लेकिन साथ ही बारिश के मौसम में आपको अपना खास ध्यान रखने की भी जरूरत होती है। बारिश में नमी अधिक हो जाती है। जिसके कारण बैक्टीरिया और कीटाणु आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं। ऐसे में आपको अपनी हेल्थ के साथ-साथ स्किन और बालों का भी ध्यान रखने की जरूरत होती है। इसके अलावा बैक्टीरिया और कीटाणु आपके इम्यूनिटी को भी प्रभावित करते हैं जिससे आपको कई स्वास्थ्य समस्याएं होने का खतरा रहता है। ऐसे में आप कुछ आसान टिप्स को फॉलो कर के अपने स्वास्थ्य को बेहतर रख सकते हैं। इस मौसम में पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहें क्योंकि आपके शरीर को हाइड्रेटेड रखना जरूरी होता है। साथ ही पर्याप्त पानी पीने से आपका शरीर डिटॉक्स हो जाता है।

मॉनसून में खुद को सुरक्षित रखने के लिए 10 टिप्स …

 

diseases in monsoon

मॉनसून के मौसम में हरी सब्जियां और पत्तेदार सब्जियां जैसे पत्ता गोभी को पहले अच्छी तरह धो लें ताकि उनमें मौजूद कीटाणु और बैक्टीरिया खत्म हो जाएं। अपने शरीर को गर्म रखें क्योंकि यदि शरीर ठंडा हो जाता है तो वायरस आसानी से शरीर को प्रभावित कर सकता है। सलाद खाने के बजाय आप गर्म सूप पिएं। गर्म सूप आपके स्वास्थ्य को बेहतर रखता है साथ ही स्किन को भी पोषण प्रदान करता है। यदि आप अस्थमा और डायबिटीज के मरीज हैं तो भीगी दीवारों के पास खड़ें रहने से बचें क्योंकि यह नुकसानदायक हो सकता है। इनमें बहुत तेजी से फंगस का विकास होता है। डायबिटीज के मरीज खाली पैर या भी भीगें हुए जूते पहनकर ना घूमें। दूध वाले प्रोडक्ट्स जैसे नट्स और सोय प्रोडक्ट्स स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। यह स्किन और बालों के लिए भी फायदेमंद होते हैं।

1. अपने साथ हमेशा बारिश से बचने का इंतजाम रखें:-

  • बारिश के मौसम में खुद की सुरक्षा की तरह यह एकदम सही कदम होगा।
  • अपने साथ एक बड़ा छाता या रेनकोट रखें। अपने सिर को न भीगने दें।

2. गंदे पानी के संपर्क में न आएं :-

  • चाहे पानी रोड पर भरा हो या मौका पानी पीने का हो। आपको हर तरह से खुद को खराब पानी से दूर रखना है।
  • गंदा पानी अंदर से और बाहर आपको भारी नुकसान पहुंचाता है।
  • फंगल इंफेक्शन और बैक्टेरियाजनित इंफेक्शन से बचने के लिए पानी पर विशेष ध्यान दें।

3. विटामिन-सी की उचित मात्रा लें:-

  • बारिश के मौसम में विटामिन-सी से भरपूर चीजों का सेवन बढ़ा दें।
  • विटामिन-सी आपके शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने के अलावा, सर्दी को भगाने का काम तेजी से करता है।

Chance of rain in next 24 hours

4. पैरों और नाखून को साफ रखें :-

  • अपने पैरों और नाखूनों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दें। यहां आपको इंफेक्शन से बचना है।
  • नाखून के माध्यम से गंदगी को शरीर में जाने से रोकना जरूरी है। खुद की सफाई करते रहें।
  • बार-बार हाथ धोएं और हो सकें तो अपने साथ एक हैंडसेनेटाइजर रखें।

5. बारिश में भीगने के बाद एक बार और नहाएं :-

  • आपको सुनकर भले ही अजीब लगे लेकिन यह जरूरी है।
  • अगर आप बारिश में भीग गए हैं तो नहाने से आपको इंफेक्शन होने का खतरा लगभग खत्म हो जाएगा।
  • बढ़िया से स्नान के बाद, खुद को सुखाएं।

6. बाहर खाने से बचें :-

  • स्ट्रीट फूड या खुले में रखे खाने को खाने से बचें।
  • आपकी इच्छा जरूर होगी लेकिन ये मौसम बीमारियों का मौसम है। आप बीमार पड़ सकते हैं।

7. गर्म पीने की कोशिश करें :-

  • बारिश के मौसम में तापमान नीचे जाता है। अपने आप ही आपको कुछ गर्म खाने का मन करेगा।
  • सूप, गर्म दूध या अदरक की चाय जैसे कुछ आॅप्शन आप अपना सकते हैं।
  • आपको तुरंत अच्छा महसूस होगा साथ ही आपके स्वास्थ्य के लिए भी यह अच्छा साबित होगा।

8. खुद को सूखा रखें :-

अगर आप भीग गए हैं तो आप मुश्किल में हैं। आप गीले बैठे हैं। हो सकता है गीले ही एसी कमरे में चले जाएं। पंखे के नीचे खुद को सुखाने की कोशिश करें। इतनी देर में आपको सर्दी और इंफेक्शन का खतरा है। बेहतर होगा अपने साथ दूसरे कपड़े बदलने का इंतजाम रखें।

Health Tips, Quality, Important, Quantity

9. डाइट पर ध्यान दें :-

अपनी डाइट को बदल दें। यह मौसम भारी और अधिक खाने का नहीं है। हल्का, सुपाच्य और हेल्दी खाना खाएं। कम खाने की कोशिश करें। खाना बनाने और स्टोर करने में सफाई का बेहद अधिक ख्याल रखें। सारे घर में हो सकते तो अधिक सफाई करें। कीड़ों से घर को सुरक्षित रखने की कोशिश करें।

10. हर्बल टी और पेय पीते रहें :-

  • साधारण चाय और सूप के अलावा हर्बल टी को भी इस मौसम में अपनाना बढ़िया रहेगा।
  • लौंग, हल्दी, तुलसी, अदरक और केसर के प्रयोग से बने पेय पीते रहें।

मॉनसून में होने वाली बीमारियां और उनके उपचार

वायरल बुखार- वायरल बुखार मानसून के दौरान सबसे ज्यादा होता है इसलिए इस वक्त आपको सेहत पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। इसमें बुखार आना, सर्दी होना, खांसी, शरीर में जकड़न जैसे लक्षण देखे जाते हैं। इसके लिए आप हर्बल टी का सेवन करें। रात में सोने से पहले हल्दी वाला दूध पीएं और दिनभर गुनगना पानी पीते रहें।

टाइफाइड- टाइफाइड बीमारी दूषित पानी और खान-पान की वजह से होती है। इसलिए बारिश के मौसम में खान-पान पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। ऐसे समय में जितना हो सके, बाहर के खाने से दूरी ही बेहतर है, साथ ही साफ-सफाई का विशेषतौर पर ध्यान देना चाहिए।

पेट संबंधी परेशानी- बारिश के मौसम में होने वाली एक और बीमारी है, वो है पेट में संक्रमण होना। इससे उल्टी, दस्त और पेटदर्द के लक्षण दिख सकते हैं। ज्यादातर यह खाद्य और तरल पदार्थों के सेवन से होता है। इस दौरान उबला पानी पीना, घर का बनाया भोजन करना आदि ही इससे बचाव का सही उपचार है।

इन बातों का रखें ख्याल-

  • घर के चारों ओर पानी जमा न होने दें, गड्ढों को मिट्टी से भर दें, रुकी हुई नालियों को साफ करें।
  • अगर पानी जमा होने से रोकना संभव नहीं है तो उसमें पेट्रोल या केरोसिन आॅइल डालें।
  • रूम कूलरों व फूलदानों का सारा पानी हफ्ते में 1 बार और पक्षियों को दाना-पानी देने के बर्तन को रोज पूरी तरह से खाली करें, उन्हें सुखाएं और फिर भरें।
  • घर में टूटे-फूटे डिब्बे, टायर, बर्तन व बोतलें आदि न रखें। अगर रखें तो उल्टा करके रखें।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।