Breaking News

करतारपुर कॉरीडोर खुला, पहला जत्था हुआ रवाना, पीएम मोदी ने कहा-गुरु नानक देव जी हमारे प्रेरणा पुंज हैं

Kartarpur Corridor

सुबह जाने वाले श्रद्धालुओं को उसी दिन वापस लौटना होगा।
केवल अधिसूचित दिनों को छोड़कर गलियारा पूरे साल खुला रहेगा,
जिसकी सूचना अग्रिम रूप से दे दी जाएगी।

550 श्रद्धालुओं का पहला जत्था करतारपुर रवाना किया (Kartarpur Corridor)

डेरा बाबा नानक (एजेंसी)।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को पंजाब के गुरदासपुर में (Kartarpur Corridor) करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया। उन्होंने डेरा बाबा नानक स्थित कॉरिडोर के चेकपोस्ट से 550 श्रद्धालुओं का पहला जत्था करतारपुर रवाना किया। इससे पहले समारोह में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि उन्हें आज करतारपुर कोरीडोर को समर्पित करने पर वैसी अनुभूति महसूस हो रही है जैसी आप लोगों को कार सेवा के समय होती है। करतारपुर कोरीडोर आज से श्रद्धालुओं के लिए खुल जाएगा ।

प्रधानमंत्री इमरान खान नियाजी का अभिनंदन किया (Kartarpur Corridor)

इस मौके पर मंच पर उपस्थित पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ,राज्यपाल वीपी बदनोर , पंजाब के मंत्री ,विधायक ,सांसद ,केन्द्रीय मंत्रिपरिषद के सदस्य ,एसजीपीसी के प्रधान गोबिंद सिंह लोंगोवाल और पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल तथा अन्य उमंग उत्साह से लबरेज महानुभावों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर उनकी इस पावन धरती पर वह अपने को धन्य महसूस कर रहे हैं। पीएम मोदी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान नियाजी का अभिनंदन किया।

समझौते की मुख्य विशेषताएं

  •  सभी धर्मों को मानने वाले भारतीय और भारतीय मूल के श्रद्धालु कॉरिडोर का उपयोग कर सकते हैं। यात्रा के लिए वीजा की आवश्यकता नहीं है। श्रद्धालुओं के पास केवल वैधानिक पासपोर्ट होना चाहिए।
  •  भारतीय मूल के लोगों के लिए अपने देश के पासपोर्ट के साथ ओसीआई कार्ड रखना आवश्यक होगा।
  • गलियारा सूर्योदय से सूर्यास्त तक खुला रहेगा। सुबह जाने वाले श्रद्धालुओं को उसी दिन वापस लौटना होगा।
  • केवल अधिसूचित दिनों को छोड़कर गलियारा पूरे साल खुला रहेगा, जिसकी सूचना अग्रिम रूप से दे दी जाएगी।
  •  श्रद्धालुओं को अकेले या समूह में अथवा पैदल जाने की छूट होगी।
  •  यात्रा तिथि के 10 दिन पहले भारत श्रद्धालुओं की सूची पाकिस्तान को सौंपेगा। यात्रा तिथि के 4 दिन पहले श्रद्धालुओं को यात्रा की पुष्टि की सूचना प्राप्त हो जाएगी।
  •  पाकिस्तान पक्ष ने भारत को आश्वासन दिया है कि ‘लंगर’ और ‘प्रसाद’ का पर्याप्त प्रबंध किया जाएगा।

श्रद्धालुओं के लिए सुविधाएं-

  •  डेरा बाबा नानक को अमृतसर-गुरदासपुर राजमार्ग से जोड़ने के लिए 120 करोड़ रुपये की लागत
  • से चार लेन वाला 4.2 किलोमीटर लम्बा राजमार्ग बनाया गया है।
  • 15 एकड़ जमीन पर शानदार यात्री टर्मिनल भवन बनाया गया है,
  • यह भवन पूरी तरह से वातानुकूलित है और इसका निर्माण हवाइअड्डे की तरह किया गया है।
  • यहां 50 आव्रजन काउंटर हैं, जो प्रतिदिन 5000 श्रद्धालुओं को सेवा प्रदान करेंगे।
  •  मुख्य इमारत में शौचालय, सहायता केंद्र, बच्चों के लिए सुविधा,
  • प्राथमिक उपचार सुविधा, प्रार्थना कक्ष, अल्पाहार काउंटर आदि मौजूद हैं।
  •  मजबूत सुरक्षा के लिए सीसीटीवी द्वारा निगरानी की व्यवस्था है तथा जन सूचना प्रणाली लगाई गई है।
  •  अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 300 फीट ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया है।

पंजाब की देखभाल करना हमारी जिम्मेवारी: कैप्टन

-कैप्टन सिंह ने पाकिस्तान की ओर निशाना साधते हुए कहा कि पड़ोसी देश को समझ लेना चाहिए कि अब समय बदल रहा है और शांति और प्यार की आवाज उठ रही है। पाक को अब हमारे खिलाफ इस्तेमाल किए जाने वाले पैसे को अपनी जनता की खुशहाली के लिए सड़कें, बिजली पानी और शिक्षा पर खर्च करना चाहिए। पंजाब की देखभाल करना हमारी जिम्मेवारी है।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top