Breaking News

जींद उपचुनाव: 21 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में बंद, 75 फीसदी हुआ मतदान

Jind bye elections: 75 percent voting

– छुट-पुट घटनाओं के बीच शांतिपूर्वक ढंग से निपटा चुनाव

– 174 पोलिंग बूथ बनाए गए, युवाओं में मतदान को लेकर रहा जबरदस्त उत्साह

– 31 जनवरी को आएगा नतीजा

चंडीगढ़/जींद (अनिल कक्कड़/बिंटू सिंह)। प्रदेश की सत्ता के लिए सैमीफाइनल माने जा रहे जींद के उपचुनाव के लिए जींद की जनता ने खासा उत्साह दिखाया। छुट-पुट घटनाओं के बीच इस बार करीबन 75 फीसदी मतदान हुआ। 21 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला अब 31 जनवरी को होगा। बता दें कि चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और पहले चार घंटे में ही इसने 35 प्रतिशत का आंकड़ा छू लिया। मतदाताओं विशेषकर युवाओं और महिलाओं में मतदान के प्रति काफी उत्साह देखा गया। सुबह कड़ाके ही ठंड और धुंध के चलते मतदान काफी धीमा था लेकिन दिन चढ़ने और मौसम खुलने के साथ इसमें तेजी आई है और मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लम्बी कतारें लग गई हैं। मतदान सायं पांच बजे चलेगा।

21 उम्मीदवारों ने आज़माई अपनी किस्मत

इस उपचुनाव में कुल 21 उम्मीदवारों ने अपनी राजनीतिक किस्मत आजमाई। इनमें मुख्य रूप से मुकाबला राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार डॉ. कृष्ण मिड्ढा, कांग्रेस के रणदीप सिंह सुरजेवाला, इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के उम्मेद सिंह रेढू और इनेलो से टूट कर अस्तित्व में आई जननायक जनता पार्टी (जजपा) के दिग्विजय सिंह चौटाला के बीच देखा जा रहा है। भाजपा सांसद राज कुमार सैनी की नवगठित लोकतंत्र रक्षा पार्टी ने भी विनोद आश्री को अपने प्रत्याशी के रूप में चुनाव में उतारा है। मिढडा ने अपनी मां के साथ बूथ संख्या 69 में मतदान किया।

मतदान के बाद उन्होंने कहा कि जींद की जनता का आशीर्वाद उन्हें ही मिलेगा और वह यह चुनाव जीतेंगे। रेड़ू ने अपने लोचब गांव के बूथ में मतदान किया। सुरजेवाला और दिग्विजय का वोट इस हलके में नहीं। दोनों नेताओं ने सुबह मंदिर में जाकर माथा टेका और जीत के लिये प्रार्थना की।

इनेलो विधायक के निधन के पश्चात हुआ उपचुनाव

यह उपचुनाव इनेलो विधायक डा0 हरिचंद मिढडा के गत वर्ष 26 अगस्त को निधन होने के कारण कराया जा रहा है। डा0 मिढडा के पुत्र कृष्ण मिढडा भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़े हैं। इस उपचुनाव को राज्य में इसी वर्ष होने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनावों के मद्देनजर मतदाताओं का मूड भांपने की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है और ऐसे में सभी प्रमुख राजनीतिक दलों की प्रतिष्ठा इसमें दांव पर लगी हुई हैं।

उपचुनाव से चंद घंटों पहले कार से 16 लाख रुपये बरामद, जांच जारी

वाहनों की चेकिंग के दौरान सिविल लाइन पुलिस ने जींद कोर्टमोड़ पर एक गाड़ी की तलाशी लेते हुए उसमे रखे 16 लाख 2 हजार 610 रुपये की राशि बरामद की। पुलिस ने गाड़ी में सवार 4 आरोपी ईगराह गांव निवासी देवेंद्र, संदीप, अनिल व गांव लोधर निवासी भीम सिंह को गाड़ी, राशि सहित हिरासत में ले लिया।

जाट वोटरों पर सभी दलों की रही नज़र

इस बार लगभग 75 प्रतिशत मतदान हुआ। इस बार चुनाव आयोग ने उन युवाओं को भी मतदान करने का अवसर प्रदान किया, जिनकी उम्र इस साल 19 वर्ष से अधिक है और उन्होंने पहली बार वोट बनवाया है। बता दें कि जींद विधानसभा में 1.70 लाख से ज्यादा मतदाता हैं, जिनमें तकरीबन 46 हजार के करीब ओबीसी और 38 हजार अनूसूचित जाति के वोटर्स हैं।

इसी तरह लगभग 12-12 हजार पंजाबी और ब्राह्मण समाज के वोट हैं। जींद में 11000 के करीब मुस्लिम वोटर भी हैं जो निर्णायक साबित हो सकते हैं, जबकि 5 हजार अन्य जाति के मतदाता भी हैं। लेकिन सभी दलों की नजर उन 50 हजार जाट वोटर्स पर रही जिनकी तादाद सबसे ज्यादा है। लेकिन जाट वोटर्स की सबसे ज्यादा तादाद होने के बावजूद पिछले 46 साल से यहां कोई जाट चेहरा जीत का परचम नहीं लहरा पाया है।

4000 जवानों ने संभाली सुरक्षा व्यवस्था

जींद में कुल 174 बूथों पर मतदान कराने के लिए 2 हजार के लगभग चुनावी स्टाफ तैनात किया गया। वहीं हरियाणा पुलिस के 3 हजार जवान, 500 होमगार्ड्स के अलावा सीआरपीएफ और आरएएफ की 1-1 कंपनी भी बुलवाई गई है। पूरे इलाके में 51 नाके लगाए गए।

हरियाणा-महाराष्ट्र-झारखंड में समय पूर्व चुनाव की तैयारी में जुटी कांग्रेस

आगामी लोकसभा चुनाव के साथ देश के कई राज्यों के विधानसभा चुनाव भी हो सकते हैं। इनमें ओडिशा, आंध्र प्रदेश, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश तो पहले से ही निर्धारित हैं। इसके अलावा हरियाणा, महाराष्ट्र और झारखंड के विधानसभा चुनाव कराए जा सकते हैं, जबकि साल के आखिरी में इन तीन राज्यों के सरकार का कार्यकाल पूरा होगा। हालांकि कांग्रेस ने अपनी तैयारियां भी शुरू कर दी हैं।

सूत्रों की मानें तो कांग्रेस नेतृत्व और प्रदेश कांग्रेस कमेटियां लोकसभा चुनाव के साथ-साथ विधानसभा चुनाव की रणनीति बनाने बनाने में जुटी है। महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड में अगर समय से पहले विधानसभा चुनाव की घोषणा हो जाती है, तो उसके लिए भी योजना पर काम कर रही है। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने शनिवार को ही कहा था कि लोकसभा चुनावों के साथ विधानसभा चुनाव होते हैं तो हम इसके लिए तैयार हैं। हुड्डा का मानना है कि हाल ही में तीन राज्यों में मिली से जीत से कांग्रेस के पक्ष में माहौल बना है। ऐसे में अगर लोकसभा के साथ इन तीन राज्यों में चुनाव होते हैं तो इसका फायदा कांग्रेस को मिलेगा।

रामगढ़ विधानसभा सीट के लिए 80 प्रतिशत मतदान

अलवर (एजेंसी)। राजस्थान में अलवर की रामगढ़ विधानसभा सीट के लिए मतदान शांतिपूर्ण सम्पन्न हो गया जहां करीब अस्सी प्रतिशत मतदान हुआ। निर्वाचन विभाग के अनुसार मतदान सायं पांच बजे शांतिपूर्ण सम्पन्न हो गया और प्राप्त प्रारंभिक सूचना के मुताबिक इस दौरान 78़ 53 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। सुबह आठ बजे मतदान शांतिपूर्ण शुरू हुआ और इस दौरान कहीं से कोई अप्रिय समाचार नहीं मिला।

निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई और इसके लिए ढाई हजार से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये थे। सत्तारुढ़ कांग्रेस प्रत्याशी साफिया खान, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सुखवंत सिंह एवं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से जगत सिंह सहित बीस प्रत्याशियों के चुनावी भाग्य का फैसला इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन में बंद हो गया जो मतगणना इकत्तीस जनवरी को खुलेगा। उल्लेखनीय है कि गत सात दिसम्बर को हुए पंद्रहवीं विधानसभा चुनाव से पहले रामगढ़ विधानसभा सीट से बसपा प्रत्याशी लक्ष्मण चौधरी का निधन होने जाने से यहां चुनाव स्थगित कर दिया गया था।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top