जाखल: रैन बसेरा में व्यवस्था सुधारे प्रशासन : एसडीएम

0
order

रेलवे स्टेशन – बस स्टैड पर नही कोई व्यवस्था (order )

खामियों को करेंगे दूर: एसडीएम

जाखल, (तरसेम सिंह, सच कहूं ) अचानक उतर भारत के कई जगह बारिश के (order ) साथ साथ ओलावृष्टि व बर्फबारी होने के कारण संमस्त उतर भारत में ठंड बढ़ गई है। मौसम विशेषज्ञो ने लोगों को कहा कि वो अपना ध्यान रखें, विशेषकर बच्चों और बुजुर्गों का। यही नहीं बढ़ती ठंड को ध्यान में रखते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि समस्त रैन बसेरों पर सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएं, जगह जगह अलाव जलाए जाएं तथा जरूरतमंदों को कंबल दिए जाएं। उतर भारत के महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन जहाँ लगभग रोजाना 24 घंटे 50 से भी अधिक पैंसजर मेल गाड़ियो के माध्यम से हजारो रेलयात्री आवागमन करते है लेकिन सरकार व अधिकारियों के निर्देश के बावजूद ना रेलवे स्टेशन पर रेलयात्रियों के लिए रैन बसेरा या कोई अन्य व्यवस्था है ना ही बस स्टैंड पर ठंड में ठिठुरते यात्रियों के लिए कोई व्यवस्था।

  • रेलवे स्टेशन पर रैन बसेरा के नाम पर एक वृक्ष पर टंगा बोर्ड दिखा जिस पर रैन बसेरा नगरपालिका में होने की बात लिखी थी।
  • लेकिन बोर्ड पर किसी का भी मोबाइल नम्बर अंकित नही है।

आधे अधूरे प्रबंध रैन बसेरा में

  • नगरपालिका में रैन बसेरे के नाम पर एक बैड एक दो रजाई ही देखने को मिले।
  •  वह भी एक कबाड़ के कमरे में।
  • ऐसे में किसी वीआईपी के रहने की बात तो दूर कोई झुग्गी झोपड़ी में रहने वाला भी इस आसन को ग्रहण ना करें।

क्या कहते है एसडीएम टोहाना

  • एसडीएम अनुभव मेहता कहते है ठिठुरती ठंड में रैन बसेरा होना लाजिमी है।
  •  ऐसे लोग जिनके पास रात गुजारने के लिए छत नहीं उनके लिए नगरपालिका में रैन बसेरा की व्यवस्था है।
  • अगर कोई खामी है तो उसे तुरंत प्रभाव से दूर करवाने के निर्देश दिए जाएगे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।