अंतरराष्ट्रीय स्तर का सिंथेटिक ट्रैक बनकर तैयार

0
11
Synthetic-Track

अब एचएयू के गिरी सेंटर में अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी हो सकेंगे तैयार (Synthetic Track)

  •  मुख्यमंत्री मनोहर लाल 29 नवंबर को करेंगे उद्घाटन

सच कहूँ/संदीप सिंहमार हिसार। हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार में स्थित गिरी सेंटर में अब अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी तैयार होंगे। इसके लिए गिरी सेंटर में करीब 5 करोड़ रुपए की लागत से अंतरराष्ट्रीय सिंथेटिक ट्रैक बनकर तैयार हो चुका है। इस ट्रैक का उद्घाटन 29 नवंबर को मुख्यमंत्री मनोहर लाल करेंगे। इस ट्रैक को बनाने में 4 करोड़ 65 लाख रुपए की लागत आई है जिसके लिए अनुदान भारत सरकार के खेल मंत्रालय द्वारा दिया गया है। यह राशि एचएयू की परिधि में खेलों को बढ़ावा देने के लिए खेलो इंडिया राष्ट्रीय कार्यक्रम के तहत प्रदान की गई है। इस टैक को मुंबई की स्पोर्ट्स फैसिलिटीज प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने लगभग एक वर्ष में तैयार किया है। इस टैÑक में प्रयोग किया गया सभी सामान मेड इन यूरोप है जिसे इंग्लैंड से मंगवाया गया है। इसका निर्माण भी विदेशी इंजीनियरों ने ही किया है।

वर्ष 1996 में बना था प्रदेश का पहला सिंथेटिक ट्रैक

विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण निदेशक डॉ. देवेंद्र सिंह दहिया ने बताया कि इससे पहले वर्ष 1996 में गिरी सेंटर में सिंथेटिक ट्रैक बनाया गया था जो प्रदेश के किसी विश्वविद्यालय में अपनी तरह का पहला सिंथेटिक ट्रैक था। मौजूदा समय में आयोजित की जाने वाली खेल गतिविधियों को देखते हुए पहले वाला ट्रैक पुराना हो चुका था और अंतरराष्ट्रीय स्तर के मानकों पर खरा नहीं उतर रहा था। इसी लिए इस ट्रैक का जीणोर्धार किया गया है।

वर्ल्ड एथेलेटिक्स संस्था से मिला क्लास-वन प्रमाण-पत्र

सहायक छात्र कल्याण निदेशक (खेल) डॉ. सुशील लेगा के अनुसार इस समय जो सिंथेटिक टै्रक बनाया गया है उसे अंतरराष्ट्रीय मानकों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है और इसके लिए विश्व एथेलेटिक्स संघ ने क्लास-वन का प्रमाण-पत्र दिया है। उन्होंने बताया कि यह संघ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित की जाने वाली एथलेटिक्स खेलों के आयोजन, संचालन और उसमें भाग लेने वाले खिलाडि?ों के चयन संबंधी सभी गतिविधियों को नियंत्रित करती है। इस ट्रैक में अब एथेलेटिक्स की खेल गतिविधियां जिनमें विभिन्न दौड़ जैसे बाधा दौड़, रिले दौड व फेंकने वाले खेल जिसमें चक्का फेंकना, भाला फेंकना, गोला फेंकना और कुदने वाले खेल जिसमें लंबी कूद, छोटी कूद शामिल हैं, आयोजित की जा सकेंगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।