उप्र में वृद्धाश्रमों में रहने वाले लोगों को कोरोना के दुष्प्रभाव से दूर रखने के निर्देश

0
Ministry of AYUSH

Old Age Home | संक्रमण से बचाव के समुचित प्रबन्ध सुनिश्चित करने के निर्देश

लखनऊ (एजेंसी)। उत्तर प्रदेश सरकार ने स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संचालित वृद्धाश्रमों में कोविड-19 के संक्रमण से बुजुर्गों के बचाव के समुचित प्रबन्ध सुनिश्चित करने के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। राज्य के समाज कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव मनोज सिंह ने सभी जिलाधिकारियों को विभाग के तहत स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संचालित वृद्धाश्रमों में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के समुचित प्रबन्ध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

वरिष्ठ अधिकारियों के माध्यम से वृद्धाश्रमों का समय-समय पर निरीक्षण

इस सम्बन्ध में जारी एक पत्र में उन्होंने जिलाधिकारियों से अपेक्षा की है कि वे स्वयं तथा जिले के वरिष्ठ अधिकारियों के माध्यम से वृद्धाश्रमों का समय-समय पर निरीक्षण कराते हुए कोविड-19 के संक्रमण से बचाव का समुचित प्रबन्ध सुनिश्चित कराएं। सिंह ने अपने पत्र में यह भी उल्लेख किया है कि स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संचालित वृद्धाश्रम की अधिकतम क्षमता 150 वृद्धजनों की है। कोविड-19 से बचाव के दृष्टिगत वृद्धाश्रमों के संस्थाध्यक्षों को समाज कल्याण निदेशक द्वारा 18 मार्च, 2020 के पत्र के माध्यम से विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए जा चुके हैं। कोविड-19 का अधिकांश दुष्प्रभाव वृद्धजन के स्वास्थ्य पर परिलक्षित हो रहा है। ऐसी स्थिति में वृद्धाश्रमों में रहने वाले वृद्धजन को इस महामारी के दुष्प्रभाव से दूर रखने की महती आवश्यकता है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।