निर्देश : सीएम मनोहर लाल ने गुरुग्राम में आईसोलेशन केंद्र बनाने को खाली इमारतों का सर्वे करने को कहा

0
Instructions CM Manohar Lal asked to survey the vacant buildings to make the Isolation Center in Gurugram

मुख्यमंत्री ने देखा आरोग्य सेतु ऐप तो 500 मीटर दायरे में मिले 10 कोरोना संक्रमित

  • कोरोना के केस बढ़े तो जरूरत पड़ने पर इमारतों को किया जाएगा यूज
  • मास्क वालों से वसूली जुर्माना राशि से मास्क बनवाकर बंटवाएं
सच कहूँ/संजय मेहरा गुरुग्राम। सोमवार देर शाम यहां स्वर्ण जयंती पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में पहुंचे हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जब अपने मोबाइल पर आरोग्य सेतु ऐप को देखा तो पता चला कि उनके 500 मीटर दायरे में 10 कोरोना के पॉजिटिव केस हैं। उन्होंने यह जानकारी अधिकारियों के साथ सांझा की। गुरुग्राम में कोरोना की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिला में खाली इमारतों का सर्वे करें, ताकि जरूरत पड़ने पर उनमें आईसोलेशन सेंटर बनाए जा सकें।
कोरोना महामारी के चलते किए गए लॉकडाउन के बाद पहली बार गुरुग्राम पहुंचे अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने घंटों तक कोरोना पर ही बात की। कोरोना को लेकर समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी सेवाभाव से काम करें। बिना मास्क वालों से जो जुर्माना राशि वसूली जा रही है, उसके मास्क बनवाकर बंटवाएं। आम जनता को भी बचाव उपायों के बारे में जागरूक करने के उपाय करते रहें। मुख्यमंत्री ने कोरोना से बचाव के लिए आम जनता में फेस मास्क वितरण पर जोर दिया। मुख्यमंत्री ने प्राइवेट लैब में सैंपल टैस्टिंग को मॉनीटर करने तथा उनकी टैस्टिंग रिपोर्ट को समय पर अपलोड करवाना सुनिश्चित करने के आदेश भी दिए। साथ ही उन्होंने कहा कि आकस्मिक तौर पर प्राइवेट लैब की टैस्टिंग रिपोर्ट को भी चेक करते रहें। उन्होंने ये भी कहा कि जो भी व्यक्ति टैस्ट करवाए, उसका नाम और पता सही दर्ज किया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि चाहे कोई किसी भी प्रदेश का व्यक्ति हो, वह गुरूग्राम में कोविड के लिए अपना सैंपल देकर टैस्ट करवा सकता है, केवल अपना पता सही बताए। मंडलायुक्त अशोक सांगवान ने बताया कि प्राइवेट लैब के लिए यह अनिवार्य किया गया है कि वह व्यक्ति की आईडी लेकर ही सेंपल टैस्ट करें।
इम्युनिटी बढ़ाने को भी जनता को पे्ररित करें
मुख्यमंत्री ने इस बैठक में यह भी कहा कि लोगों को अपने शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए प्रेरित करें। साथ ही उन्होंने पूछा कि आयुष विभाग के माध्यम से इम्युनिटी बढ़ाने की दवाएं वितरित की जा रही हैं या नहीं। इस पर बताया गया कि कंटेनमेंट जोन में आयुष विभाग की टीम द्वारा शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की दवाओं का वितरण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आयुर्वेदिक तथा होम्योपैथी की दवाइयों का कोई साइड इफेक्ट नहीं होता और इन दवाओं को लोग सामान्य रूप से भी लेते रहें तो कोई नुकसान नहीं है। उन्होंने आरोग्य सेतु के प्रयोग पर भी चर्चा की और बैठक में उपस्थित अधिकारियों से पूछा कि क्या सभी ने अपने मोबाइल में इस एप को डाउनलोड किया हुआ है। उन्होंने बैठक में डिस्ट्रैस राशन टोकन के बारे में भी विचार-विमर्श किया और कहा कि यह टोकन इस महीने के आखिर तक राशन लेने के लिए प्रयोग किया जा सकता है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।