Breaking News

भीड़ हमला करती रही, लेकिन भारतीय पायलट अभिनंदन ने निहत्थों पर गोलियां नहीं चलाईं

Indian pilot abhinandan varthaman

अभिनंदन भारत में हैं या पीओके में, यह जानने के लिए उन्होंने देशभक्ति के नारे भी लगाए

मुजफ्फराबाद। पाकिस्तान के एफ-16 विमान को निशाना बनाने के बाद विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान का मिग-21 बुधवार को क्रैश हो गया। उन्हें पैराशूट (Indian pilot abhinandan varthaman) के जरिए इजेक्ट होना पड़ा। वे पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में जा गिरे। वहां पहुंचने के बाद अभिनंदन को एहसास हुआ कि वे पीओके में हैं। उनके पास सर्विस रिवॉल्वर थी। भीड़ उन पर हमला कर रही थी। इसके बावजूद अभिनंदन सिर्फ हवाई फायर करते हुए भीड़ को पीछे जाने को कहते रहे। उन्होंने पीओके में किसी भी निहत्थे व्यक्ति पर गोलियां नहीं चलाईं।

पाक के एफ-16 विमान का पीछा कर रहे थे अभिनंदन

बुधवार सुबह 9:45 बजे जब भारतीय राडारों को पता चला कि पाकिस्तान के अलग-अलग एयरबेस से 10 एफ-16 विमान उड़ान भर रहे हैं तो भारत ने एहतियात के लिए दो मिग-21 और तीन सुखोई-30 विमानों को भेजा। इनमें से एक मिग-21 को विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान उड़ा रहे थे। जब पाकिस्तान के तीन एफ-16 विमान भारतीय वायु क्षेत्र में प्रवेश कर गए तो विंग कमांडर अभिनंदन ने एक का पीछा किया और उसे मार गिराया। इस जवाबी कार्रवाई में उनका विमान क्रैश हो गया।

विंग कमांडर अभिनंदन ने इन लड़कों से पूछा कि यह गांव पाकिस्तान में है या भारत में? इस पर एक लड़के ने जवाब दिया कि यह भारत है। इस पर अभिनंदन ने हकीकत पता करने के लिए देशभक्ति के कुछ नारे लगाए। फिर उन्होंने पूछा कि यह भारत का कौन-सा इलाका है। इस पर एक लड़के ने जवाब दिया- किलान। तब विंग कमांडर अभिनंदन ने कहा कि उनकी पीठ में चोट आई है और उन्हें पानी चाहिए। तभी एक युवक ने पाकिस्तान आर्मी जिंदाबाद के नारे लगा दिए। इस पर विंग कमांडर अभिनंदन समझ गए कि वे पीओके में हैं। जब लड़कों ने उनकी तरफ पत्थर फेंकने शुरू किए तो अभिनंदन ने अपनी रिवॉल्वर से हवा में एक फायर किया।

इसके बाद अभिनंदन भारतीय सीमा की ओर आधा किलोमीटर तक दौड़े। भीड़ उनके पीछे थी। वे चाहते थे कि भीड़ उनका पीछ ना करे, लेकिन लड़के उन पर लगातार पत्थर फेंक रहे थे। उन्होंने एक-दो और हवाई फायर किए। इसके बाद भी भीड़ पीछे आ रही थी। अभिनंदन ने एक छोटे तालाब में कुछ दस्तावेज और नक्शे डुबा दिए। कुछ कागज वे निगल गए ताकि दुश्मनों को भारत की किसी भी रणनीति का पता न चल सके। तभी एक लड़के ने उनके पैर पर एक बड़े पत्थर से वार कर दिया। वे जख्मी हो गए। लड़के उनके साथ मारपीट करने लगे। इसके बाद भी विंग कमांडर अभिनंदन ने निहत्थी भीड़ पर गोलियां नहीं चलाईं। कुछ देर बाद पाकिस्तानी सेना के अफसर वहां आए और विंग कमांडर अभिनंदन को हिरासत में ले लिया। उन्हें पाकिस्तानी सेना की भिम्बेर स्थित यूनिट में ले जाया गया।

पिता ने कहा- बहादुर है बेटा

अभिनंदन के पिता रिटायर्ड एयर मार्शल एस वर्तमान वायु सेना में फाइटर पायलट रहे हैं। उन्होंने अपने एक संदेश जारी कर कहा, ‘‘अभि जिंदा है। वह घायल नहीं है। वह मानसिक तौर पर मजबूत है। देखें कि किस तरह उसने बहादुरी से बात की। वह सच्चा सैनिक है। हमें उस पर गर्व है।’’

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019