Breaking News

सीरीज कब्जाने उतरेगा भारत

India, Series, Cricket, Test Match

टेस्ट शृंखला: दूसरा मुकाबला वीरवार को

कोलंबो (एजेंसी)। मेजबान श्रीलंका को पहले टेस्ट में एकतरफा अंदाज में शिकस्त देने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज़ विराट कोहली की नंबर वन टेस्ट टीम भारत वीरवार से कोलंबो में शुरु होने जा रहे दूसरे क्रिकेट टेस्ट में भी जीत दर्ज कर तीन मैचों की सीरीज पर अपना कब्ज़ा करने के इरादे से उतरेगी। भारत ने पहले टेस्ट में श्रीलंका को 304 रन से पराजित कर 1-0 की बढ़त बना ली है और अब कोलंबो टेस्ट में उसके पास जीत से सीरीज पर कब्जा करने का मौका होगा। वहीं मेजबान टीम के लिए यह करो या मरो का मैच होगा जिसमें वापसी कर वह बराबरी करना चाहेगी।

विराट की कप्तानी में टीम इंडिया ने वर्ष 2015 में अपनी पिछली सीरीज में 2-1 से जीत दर्ज की थी जो 22 वर्षाें में भारत के लिए श्रीलंका की जमीन पर टेस्ट सीरीज जीतने का पहला मौका था। लेकिन पिछले दो वर्षाें में भारतीय टीम में व्यापक बदलाव आए हैं और स्टार बल्लेबाज विराट भी अब एक परिपक्व कप्तान बन गए हैं जो टेस्ट में कप्तानी के मामले में दिग्गजों को पीछे छोड़ चुके हैं। उनके लिए भी यह एक बार फिर खुद के नेतृत्व को साबित करने का मौका है। हालांकि कप्तान के लिए ओपनिंग क्रम में चयन इस बार कुछ सिरदर्द हो सकता है लेकिन यह जबरदस्त लय में चल रही भारतीय टीम को जीत से रोकने का कारण नहीं है।

लोकेश राहुल बीमारी से उबरने के बाद अब पूरी तरह फिट

गाले टेस्ट से बाहर रहे ओपनर लोकेश राहुल बीमारी से उबरने के बाद अब पूरी तरह फिट हैं और टीम में वापसी कर रहे हैं। ऐसे मे शिखर धवन और अभिनव मुकुंद में से किसी एक का बाहर बैठना तय है। चोटिल मुरली विजय की जगह टेस्ट टीम में मौका पाने वाले धवन ने गाले में भारत की पहली पारी में सर्वाधिक 190 रन की जबरदस्त पारी खेल अपनी अहमियत जता दी तो वहीं मुकुंद ने पहली पारी में 12 रन बनाने के बाद दूसरी पारी में भरपाई करते हुए 81 रन बनाए थे।

ओपनिंग क्रम पर दोनों ही खिलाड़ी बल्ले से उपयोगी हैं लेकिन उम्मीद यही है कि कप्तान अंतिम एकादश में धवन को शामिल कर सकते हैं। पिछली सीरीज में भी धवन और मुरली के चोटिल होने के बाद ओपनिंग में राहुल और पुजारा को ओपनिंग करने का मौका मिला था और इस बार भी वही स्थिति पैदा हो गयी है। टीम में गब्बर कहे जाने वाले शिखर को यदि यहां खेलने का मौका मिला तो यह उनका 25वां और पुजारा 50वां टेस्ट होगा। वहीं कई अन्य खिलाड़ियों के पास भी व्यक्तिगत कीर्तिमान बनाने के मौके रहेंगे।

कोलंबो में श्रीलंका के लिए टेस्ट पदार्पण करने का मौका

गेंदबाजी में गाले में छह विकेट लेकर सबसे सफल रहे लेफ्ट आर्म स्पिनर और टेस्ट में दुनिया के शीर्ष गेंदबाज रवींद्र जडेजा के पास अपने 150 टेस्ट विकेट पूरे करने का मौका रहेगा। अनुभवी आॅफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने भी पिछले मैच में चार विकेट लिए थे और स्पिनरों में उनकी और जडेजा की जोड़ी पर काफी दारोमदार रहेगा। तेज गेंदबाजों में उमेश यादव, मोहम्मद शमी, मध्यम तेज गेंदबाज पांड्या गेंदबाजी आक्रमण संभालेंगे।

वहीं अच्छी लय में खेल रहे लाहिरु तिरिमाने को भी चोटिल असेला गुणारत्ने की जगह टीम में बुलाया गया है। असेला को गाले में फील्डिंग के दौरान चोट लग गयी थी। तिरिमाने ने भारत के साथ अभ्यास मैच में भी 59 रन की पारी खेली थी। पिछले मैच में कार्यवाहक कप्तान रह लेफ्ट आर्म स्पिनर रंगना हेरात को भले ही सीरीज से पहले भारत के लिए बड़ा खतरा माना जा रहा था लेकिन वह गाले में चोटिल हो गए और उनकी जगह लक्षण संदाकन को टीम में शामिल किया गया है।

हेरात को टेस्ट से गुज़रना होगा और उनकी फिटनेस के कारण फिलहाल दूसरे मैच में उनकी उपलब्धता संदिग्ध ही है। उनकी जगह मलिंडा पुष्पकुमारा को कोलंबो में श्रीलंका के लिए टेस्ट पदार्पण करने का मौका मिल सकता है। हालांकि हेरात की अनुपस्थिति ने मेजबान टीम को काफी बड़ा झटका दिया है जिसे दूसरे मैच में कई बदलावों के साथ उतरना होगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top