विशाखापत्तनम जासूसी मामले का मुख्य आरोपी इमरान गिरफ्तार

0
arrested

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने हैदराबाद में दर्ज विशाखापत्तनम जासूसी मामले के मुख्य आरोपी गितेली इमरान को गिरफ्तार कर लिया है। एनआईए ने मंगलवार को बताया कि आरोपी इमरान को सोमवार को गिरफ्तार किया गया। उसे जासूसी गतिविधियों में शामिल होने और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करने के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी और 121 ए, यूए (पी) कानून की धारा 17 और 18 तथा आधिकारिक गोपनीयता कानून के अनुच्छेद3 के तहत गिरफ्तार किया गया है।

एजेंसी ने सोमवार को इमरान के घर की तलाशी ली और कुछ डिजिटल उपकरण तथा खुफिया दस्तावेज जब्त किये। यह मामला एक अंतरराष्ट्रीय जासूसी रैकेट से संबंधित है जिसमें पाकिस्तान स्थित जासूसों ने भारतीय नौसैनिक जहाजों, पनडुब्बियों और अन्य रक्षा प्रतिष्ठानों के स्थानों/गतिविधियों के बारे में संवेदनशील और खुफिया जानकारी एकत्र करने के लिए भारत में एजेंटों की भर्ती की। एनआईए की जांच में पता चला है कि कुछ नौसेनाकर्मी फेसबुक, व्हाट्सऐप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफाॅर्म के माध्यम से पाकिस्तानी एजेंटों के संपर्क में आए और उन्होंने आईएसआई के भारत में मौजूद सहयोगियों के माध्यम से खुफिया जानकारी जानकारी साझा की। इसके बदले आईएसआई ने उन्हें मोटी रकम अदा की।

जांच एजेंसी ने 14 आरोपियों के खिलाफ इस साल 15 जून को आरोप पत्र दायर किये। अब तक की जांच में पता चला है कि गिरफ्तार आरोपी इमरान सीमा पार कपड़ा व्यापार की आड़ में पाकिस्तानी जासूसों और एजेंटों से जुड़ा हुआ था। एनआईए के अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान स्थित जासूसों के निर्देश के अनुसार उसने संवेदनशील और खुफिया जानकारियों के एवज में नौसेना कर्मियों के बैंक खातों में नियमित अंतरात पर धनराशि जमा की।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।