Breaking News

हजारों की भीड़ में मंदबुद्धि के लिए बढ़े डेरा अनुयायियों के हाथ

Hundreds of thousands of followers of Dera followers raised for retardation

मिशन इंसानियत। नहला कर साफ-सुधरे कपड़े पहनाकर खिलाया भोजन

सच कहूँ/नरेश बजाज अबोहर। जब कोई अपनों से बिछड़ता है तो उसका दर्द सिर्फ वोही महसूस कर सकता है जिसके जिगर का वो दुकड़ा होता है। ऐसे ही न जाने कितने मानसिक रूप से कमजोर मंदबुद्धि पुरुष व महिलाएं अंजान सड़कों पर अपनों को सारी उम्र खोजते रहते हैं। लेकिन उन्हें अपनों का साया फिर नसीब नहीं होता। ऐसे में डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने इन मंदबुद्धि लोगों का दर्द समझा और मानवता भलाई की कड़ी में ‘इंसानियत’ मुहिम की शुरूआत कर इनका सहारा बने। पूज्य गुरु जी के एक आह्वान पर करोड़ों की साध-संगत ने मंदबुद्धि लोगों की संभाल करनी शुरू की।

डेरा अनुयायी जब तक इनके परिजनों का पता नहीं लगा लेते तब तक स्वयं उनकी देखभाल करते हैं उनका इलाज करवाते हैं और परिजनों के मिलने पर प्रशासन व पुलिस की मौजूदगी में उसे परिवार को सुपुर्द कर देते हैं। ऐसे ही एक ओर मंदबुद्धि की संभाल ब्लॉक खुईया सरवर के शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग के जवानों ने की। बाजार में बुरी हालत में मिले इस मंदबुद्धि को डेरा अनुयायी नामचर्च घर में लाए और अपने हाथों से नहला कर साफ-सुधरे कपड़े पहनाकर भोजन खिलाया। इस दौरान डेरा अनुयायियों ने उसका नाम और परिवार के बारे में पूछा लेकिन वह कुछ बता नहीं सकता।

  • …और चेहरे पर आ गई मुस्कान

डेरा अनुयायी अमृत इन्सां ने बताया कि खुईया सरवर बाजार में मिला ये मंदबुद्धि नौजवान, फटे कपड़ों में भूख से तड़प रहा था। बाजार में लोग आ रहे थे जा रहे थे, लेकिन किसी की भी नजर इस मंदबुद्धि पर नहीं पड़ी। लेकिन जब डेरा अनुयायियों ने उसे इस हालत में देखा तो उनके हाथ मद्द को बढ़ गए। मंदबुद्धि को नामचर्चा घर में लाया गया उसे नहलाकर, साफ कपड़े पहनाने के बाद जब उसके मुंह में निवाला गया तो उसके चेहरे पर एक ऐसी मुस्कान देखने को मिली मानों वो सालों से प्रेम व स्नेह को तरसा रहा हो।

  • अब परिजनों की शुरू हुुई तलाश

डेरा सच्चा सौदा के सेवादार भूषण इन्सां, राम लाल इन्सां, शिन्दा इन्सां, परमजीत इन्सां ने बताया कि मंदबुद्धि नौजवान को उसके परिजनों से मिलाने के लिए अब डेरा अनुयायियों ने थाना खुईया सरवर के चौंकी प्रभारी की मद्द से तलाश शुरू कर दी है। ब्लॉक भंगीदास जोगिंद्र बजाज ने बताया कि पुलिस प्रशासन के साथ मंदबुद्धि के परिवार की तलाश को लेकर समाज सेवी संस्थाओं का सहयोग भी लिया जाएगा। युवक की फोटो व्टसएप ग्रुप पर शेयर की जा रही है ताकि उसके अपने मिल सके।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top