उमस भरी गर्मी व पसीने से तरबतर लोग

0
Heavy, Rain, Forecast

डॉक्टरों ने लोगों को ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की सलाह दी

जालंधर (सच कहूँ न्यूज)। भीषण गर्मी का कहर दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को सुबह सात बजे से ही सूर्य देवता ने कहर बरपाना शुरू कर दिया। अभी इस उमस भरी गर्मी और तेज लू से लोगों को राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। आगामी दो दिनों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने के आसार है। मौसम विभाग के अनुसार दो दिनों के बाद लोगों को गर्मी से राहत मिल सकती है और पांच जुलाई से लेकर अगले तीन दिन तक आसमान में गरज के साथ बादल छाए रहने तथा सुहावने मौसम की संभावना है।

वहीं लुधियाना बारिश के लिए तरस रहा है। उमस भरी गर्मी ने लोगों को पसीने से तरबतर कर दिया है। बारिश न होने से शहर में लोग उमस भरी गर्मी की मार झेल रहे है। इस मौसम में लोग घरों से कम ही निकल रहे हैं। गर्मी ने लोगों को बैचैन कर रखा है। बाजारों में भी सन्नाटा पसरा हुआ है। एसी कूलर भी उमस भरी गर्मी के आगे बेअसर साबित हो रहे है। लोग गर्मी से बेहाल है और बारिश के लिए आसमान पर नजरें गड़ाए हुए है। दूसरी तरफ पीएयू मौसम विभाग के वैज्ञानिकों की मानें तो रविवार को आसमान से राहत बरस सकती है।

Tempchar, 41 Degree, Summer, Drinks, Demand, Sangrur, Punjab

गर्मी से बठिंडा में एक की मृत्यु

भीषण गर्मी के कारण पंजाब के बठिंडा शहर में एक साइकिल सवार अचानक गिर गया तथा बेहोश हो गया। इसी दौरान उसकी मौत हो गई। बठिंडा का पारा 42 डिग्री तक पहुंच गया। उससे लगते हरियाणा के सिरसा तथा हिसार में पारा फिर से 44 डिग्री तक पहुंच गया जिससे लोगों को लू का सामना करना पड़ा । चिलचिलाती धूप के साथ उमस के कारण लोग पसीने से तरबतर रहे । बीमार करने वाली इस गर्मी से बचने के लिये लोग घरों से नहीं निकल रहे हैं। अमृतसर, लुधियाना, पटियाला, पठानकोट 38 डिग्री हलवारा और आदमपुर का पारा क्रमश: 41 डिग्री रहा। सुबह से आसमान से तपिश बरसती रही जिससे लोग गर्मी से व्याकुल रहे।

चंद दिनों में बढ़ी बिजली की खपत

गौर हो कि जुलाई की शुरूआत से लेकर गर्मी अपना कहर बरपा रही है और पिछले दो दिनों से दिनभर खिल रही धूप ने तापमान बढ़ा दिया है। दिनभर अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस होने के कारण लोग घरों से बाहर निकलने से कतरा रहे हैं और घर में एसी और कूलर चलाकर गर्मी से बच रहे है। बीते 48 घंटे में दोपहर के समय पड़ ही भीषण गर्मी के कारण शहर की सड़कें सुनसान पड़ी है।

कोरोना वायरस औ अधिक गर्मी से भयभीत लोग गर्मी से बचाव के लिए कई तरह के साधन भी अपनाने लगे हैं। इसका अंदाजा चंद दिनों में बिजली की बड़ी खपत से लगाया जा सकता है। उधर, मौसम विभाग के पूवार्नुमान के मुताबिक इसी सप्ताह मानसून भी दस्तक देगा। पांच जुलाई से लेकर अगले तीन-चार दिनों तक मौसम सुहावना बना रहेगा। जिसमें आसमान में गरज के साथ छाए बादल, तेज हवाएं तथा बारिश की संभावना है।

कूलर व पंखे हुए फेल, एसी की डिमांड बढ़ी

पिछले दो दिनों से पारा 41 डिग्री सेल्सियस के ऊपर स्थिर है। मानसून के कमजोर पड़ने के साथ ही गर्मी भी अपने प्रचंड रूप में है। वातावरण में आ?र्द्रता का स्तर ज्यादा होने के कारण लोगों का उमसभरी गर्मी से बुरा हाल है। कूलर, पंखे काम नहीं कर रहे है, घरों के अंदर लोगों को ज्यादा गर्मी महसूस हो रही है। मानसून के सक्रिय होने के बाद ही लोगों को गर्मी से राहत मिलने की बात कही जा रही है। फरीदकोट जिले का अधिकतम तापमान 41.6 और न्यूनतम 31.6 डिग्री सेल्सियस है, जबकि वातावरण में आर्दता 64 फीसदी है, जिसके कारण लोगों को उमसभरी गर्मी से जूझना पड़ रहा है। उमसभरी गर्मी के दौरान शरीर से ज्यादा मात्रा में निकलने वाले पसीने को देखते हुए कई तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ गया है।

सिविल सर्जन डॉ. राजिदर कुमार द्वारा लोगों से ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पीने की सलाह दी जा रही है। यहीं नहीं बच्चो व बूढ़ों को घर से बाहर जरूरत पड़ने पर ही निकलने की सलाह दी जा ही है, इसके अलावा यदि किसी को किसी प्रकार की परेशानी दिखाई देती है तो वह डाक्टर से परामर्श कर उचित सलाह ले।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।