पुलिस ने राहुल गांधी के साथ की धक्का-मुक्की, फिर लिया हिरासत में

0
Rahul Gandhi in Custody

मायावती ने कहा-उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगे

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। निर्भय घटना के बाद भी दुराचारा की घटनाए रूक नहीं रही। उत्तर प्रदेश के हाथरस दुराचार मामले में पुलिस द्वारा आधी रात को परिवार की सहमति के बिना पीड़िता का अंतिम संस्कार करने के बाद देश भर में गुस्सा है। इस मामले में यूपी सरकार भी सवालों के घेरे में आ गई है। कांग्रेस ने योगी सरकार पर हमला बोल दिया है। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी हाथरस के लिए रवाना हो गए है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश सरकार पर कानून व्यवस्था को संभालने में नाकाम रहने का आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रदेश में जंगलराज जैसी स्थिति पैदा हो गई है और राज्य सरकार बेटियों को सुरक्षा देने में असफल रही है।

कार्यकर्ताओं के साथ पैदल निकले राहुल, प्रियंका

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यमुना एक्सप्रेस-वे पर काफिले की कुछ कारों को रोका गया था जिसके बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी अपने कार्यकर्ताओं के साथ पैदल ही निकल गए हैं। खबरें आ रही है कि पुलिस के धक्के से राहुल गांधी गिर गए हैं और मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राहुल गांधी को यूपी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

 

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा इस घटना पर कहा कि योगी सरकार में कानून व्यवस्था चरमा गई है। महिलाओं पर अत्याचार बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में राष्टÑपति शासन लगा चाहिए। वहीं एसआईटी ने भी जांच शुरू कर दी है। गौरतलब हैं कि योगी सरकार ने पीड़िता परिवार को 25 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है। साथ ही उनके परिवार में किसी एक को सरकारी नौकरी दी जाएगी।

प्रियंका गांधी ने कहा…

वाड्रा ने कहा “हाथरस जैसी वीभत्स घटना बलरामपुर में घटी। लड़की का बलात्कार कर पैर और कमर तोड़ दी गई। आजमगढ़, बागपत, बुलंदशहर में बच्चियों से दरिंदगी हुई। उत्तर प्रदेश में फैले जंगलराज की हद नहीं। मार्केटिंग, भाषणों से कानून व्यवस्था नहीं चलती। ये मुख्यमंत्री की जवाबदेही का वक्त है। जनता को जवाब चाहिए।”

क्या है मामला

14 सितंबर को हाथरस जिले के चंदपा गांव में पीड़िता के साथ दुराचार की घटना को अंजाम दिया था। घटना के 9 दिन बाद लड़की होश में आई तो इशारों में अपना दर्द बयान किया। पीड़िता को पहले अलीगढ़ में इलाज के लिए भेजा गया और वहां हालात बिगड़ने पर उन्हें सफदरजंग अस्पताल भेजा गया, लेकिन अफसोस, यहां भी उस पीड़िता को बचाया नहीं जा सका और मंगलवार सुबह उस लड़की ने दम तोड़ दिया। देश भर में इस मामले पर कल रात से ही प्रदर्शन हो रहे हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।