हरियाणा सरकार ने 1.60 लाख प्रवासी श्रमिकों को नि:शुल्क घर भेजा

0
migrant-workers

बसों और रेलगाड़ियों से किए रवाना

चंडीगढ़ (अनिल कक्कड़/सच कहूँ)। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अगुवाई में हरियाणा सरकार इच्छुक प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस संबंध में जानकारी देते हुए सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि अब तक 1,60,300 से अधिक ऐसे प्रवासी श्रमिकों को विभिन्न विशेष श्रमिक रेलगाड़िय़ों व बसों के माध्यम से हरियाणा सरकार के खर्चे पर उनके गृह राज्यों में पहुंचाया जा चुका है।

बिहार व 12 रेलगाड़िय़ां मध्य प्रदेश भेजी गई 

इसी कड़ी में रविवार को 3 रेलगाडिय़ां बिहार के लिए रवाना की गर्इं, जिसमें 2 ट्रेनें गुरुग्राम और एक ट्रेन पानीपत से चली। इसके साथ ही, 400 बसें उत्तर प्रदेश भेजी गई। प्रवक्ता ने बताया कि 16 मई को 3 ट्रेनों और 492 बसों के माध्यम से 22,672 प्रवासी श्रमिकों को उत्तर प्रदेश व अन्य राज्यों में भेजा गया। उन्होंने बताया कि 3100 से अधिक बसों के माध्यम से विभिन्न राज्यों में प्रवासी श्रमिकों को पहुंचाया गया है, जिनमें 781 बसें गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश भेजी गई। इसी प्रकार अब तक कुल 40 विशेष श्रमिक रेलगाड़िय़ों के माध्यम से प्रवासी श्रमिकों को बिहार व मध्य प्रदेश राज्यों में पहुंचाया गया हैं, जिनमें 28 रेलगाड़िय़ां बिहार व 12 रेलगाड़िय़ां मध्य प्रदेश भेजी गई हैं।

उन्होंने बताया कि प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में भेजने के लिए चलाई जाने वाली रेलगाड़िय़ों व बसों का सारा खर्च हरियाणा सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है। इन मजदूरों को राहत केन्द्रों में रखने का, रेलवे स्टेशन व बस स्टेशन पर लाने के मुफ्त प्रबंध सरकार द्वारा किया जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि संबंधित जिला प्रशासन से पास लेकर विभिन्न राज्यों में जाने वाले लगभग 8500 प्रवासी श्रमिकों को भी उनके गृह राज्यों में पहुँचा चुके हैं। इसी तरह, लगभग 11 हजार हरियाणा के निवासियों को अन्य राज्यों से हरियाणा लाया गया है। यह प्रक्रिया जारी है ।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।