हरियाणा: नागरिकता संशोधन बिल पर कांग्रेस ने किया विरोध प्रदर्शन

0
citizenship amendment bill

भारत का संविधान सभी धर्मों का समान आदर करता है(citizenship amendment bill)

चंडीगढ़ (अनिल कक्कड़)। प्रदेश कांग्रेस ने मोदी सरकार द्वारा लाए जा रहे (citizenship amendment bill) नागरिक संशोधन बिल-2019 का पंचकुला में विरोध किया। पूर्व संसदीय सचिव रामकिशन गुर्ज्जर के नेतृत्व में यह प्रदर्शन हुआ जिसमें भारी संख्या में कांग्रेसजन शामिल हुए। रोष प्रदर्शन को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेताओं ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल-2019 के असंवैधानिक होने और इसमें अंतर्राष्ट्रीय कानून का उल्लंघन करने की विशेष तौर पर चर्चा की। उन्होंने यह भी कहा कि यह बिल देश के संविधान की धर्मनिरपेक्षता के सिद्धांत के विरूद्ध है।

यह बिल नागरिकों के राष्ट्रीय पंजीकरण जैसे खतरनाक मंसूबे की कार्यवाही का हिस्सा है

  • देश में साम्प्रदायिक तनाव पैदा होने का डर है।
  • असम और पूर्व के अन्य राज्यों में इस बिल के विरोध में जोरदार प्रदर्शन किए जा रहे हैं
  •  कई जगहों पर तो नागरिकों ने पूरी तरह बंद किया हुआ है।
  • कांग्रेस नेताओं ने कहा कि इस नागरिकता संशोधन बिल में सत्ताधारी पार्टी ने दुर्भावना से प्रेरित ऐसी व्यवस्थायें लाने का प्रयत्न किया है
  • जिनसे देश की एकता और अखंडता को भारी हानि हो सकती है।

  भारत का संविधान सभी धर्मों का समान आदर करता है

  •  इसके अनुसार धर्म के आधार पर किसी तरह का भेदभाव नहीं किया जा सकता
  • परंतु मोदी सरकार ने तानाशाही तरीके से मनमर्जी के अनुसार
  •  सभी सिद्धांतों को ताक पर रखते हुए यह बिल पेश किया है
  •  कांग्रेस पार्टी भाजपा सरकार की बदनियती की जोरदार निन्दा करती है।
  • कांग्रेस जनों ने केन्द्र की भाजपा सरकार के विरूद्ध जोरदार नारे लगाकर अपना रोष व्यक्त किया
  • नागरिकता संशोधन बिल-2019 का सांकेतिक तौर पर उसकी प्रतिकृति फाड़ कर अपना विरोध दर्ज किया।

विधायक प्रदीप चौधरी व शैली चौधरी, प्रदेश कांग्रेस के कोषाध्यक्ष रोहित जैन, महिला कांग्रेस की संयोजक रंजीता मेहता, विजय मोहन वर्मा, गफुर मोहम्मद आदि नेताओं ने रोष प्रदर्शन को संबोधित किया।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।