हरियाणा भाजपा अध्यक्ष की अटकलों को विराम, ओपी धनखड़ को मिली कमान

0
OP Dhankar

चंडीगढ़ (अनिल कक्कड़)। आखिरकार लंबे समय से जारी भाजपा प्रदेशाध्यक्ष नियुक्ति की अटकलों पर रविवार को विराम लग गया। पूर्व की भाजपा सरकार में कृषि मंत्री एवं जाट नेता ओपी धनखड़ को प्रदेश का नया अध्यक्ष नियुक्त कर दिया गया। जहां पहले यह कुर्सी केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर के खाते में जाती नजर आ रही थी उसे अब धनखड़ को सौंप दिया गया है। धनखड़ अब सुभाष बराला की जगह लेंगे और प्रदेश में भाजपा को मजबूत करेंगे।

  • बता दें कि धनखड़ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, किसान मोर्चा और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े रहे हैं।
  • पार्टी ने जाट नेता सुभाष बराला के बाद दूसरे जाट नेता ओमप्रकाश धनखड़ पर ही विश्वास जताया।

ओपी धनखड़ हाईकमान को यह समझाने में पूरी तरह कामयाब रहे कि अगर जाटों को दरकिनार किया गया तो भाजपा फिर उसी जगह पहुंच जाएगी, जहां से शिखर का सफर शुरू किया था। सामाजिक समरसता के लिए जाटों को मुख्यधारा में शिखर के दो में से एक पद पर रखना जरूरी था।

प्रदेशाध्यक्ष को लेकर लॉकडाउन से पहले ही हो गई थी चर्चा शुरू, इन नेताओं का नाम खूब उछला (OP Dhankar)

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष को लेकर लॉकडाउन से पहले चर्चा शुरू हो गई थी। कृष्णपाल गुर्जर, संदीप जोशी, कैप्टन अभिमन्यु, सुभाष बराला और ओमप्रकाश धनखड़ का नाम चल रहा था। शुरूआत में कयास लगाए जा रहे थे कि सुभाष बराला को ही दोबारा जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इसके बाद केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर का नाम सबसे आगे था लेकिन भाजपा संगठन में उनके नाम पर भी सहमति नहीं बनी।

  • अनलॉक शुरू होने के बाद लगातार सीएम मनोहर लाल खट्टर ने दिल्ली दरबार में चक्कर लगाए।
  • पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की।
  • इसके बाद नाम तय हुआ है।

जाटलैंड से प्रदेशाध्यक्ष चुन भाजपा ने खेला जाट कार्ड

धनखड़ को प्रदेशाध्यक्ष चुनकर भाजपा ने जाट कार्ड खेल दिया है। धनखड़ जाटलैंड रोहतक से हैं, जहां कांग्रेस के जाट नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा का दबदबा माना जाता है। धनखड़ को चुने जाने के पीछे कई फैक्टर जुड़े थे। वे लंबे समय से आरएसएस से जुड़े रहे हैं, भाजपा के साथ-साथ संघ को भी उनके प्रदेशाध्यक्ष बनने पर कोई आपत्ति नहीं थी।

  • अनुभव भी धनखड़ का प्लस प्वाइंट रहा है।
  • वे संगठन में लंबे समय से काम कर रहे हैं।
  • भाजपा के किसान मोर्चा के अध्यक्ष रह चुके हैं, इसके साथ-साथ अन्य पदों पर भी रहे हैं।
  • पिछली सरकार में कैबिनेट मंत्री होने का अनुभव भी उनके पास है।
  • भाजपा ने ठीक बरोदा उपचुनाव से पहले धनखड़ को प्रदेशाध्यक्ष घोषित किया है।
  • हुड्डा के दबदबे वाली बरोदा सीट पर चुनावी फायदा उठाया जा सके।

खट्टर, हुड्डा, बराला और दुष्यंत ने दी शुभकामनाएं

धनखड़ को पार्टी प्रदेशाअध्यक्ष चुने जाने के बाद बधाईयों का तांता लग गया। प्रदेश के तमाम बड़े नेताओं ने सोशल मीडिया पर धनखड़ को उनकी नई जिम्मेवारी के लिए बधाई दी। सीएम खट्टर, पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस विधायक दल के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा, मौजूदा भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला और जेजेपी नेता और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चैटाला ने भी धनखड़ को बधाई दी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।