हरियाणा

सामान्य छात्रों के सलेबस से शिक्षा ग्रहण करेंगे ‘दिव्यांग’

Teacher, Handicapped, Education, Syllabus, Training, Haryana

पहल। 5 दिवसीय शिविर में शिक्षकों को दिया जा रहा प्रशिक्षण

  • विभाग ने जारी किया पत्र

ओढ़ां (सच कहूँ न्यूज)। दिव्यांग बच्चों को मुख्यधारा में लाने की दिशा में सरकार ने कमर कस ली है। हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद् ने पाठ्यनक्रम अनुकूल अभियान के तहत सभी जिला परियोजना समन्वयक को पत्र जारी कर शिक्षकों को 5 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर लगाने के निर्देश दिए है। विभाग की ओर से मिले पत्र के बाद प्रदेशभर में मंगलवार को प्रशिक्षण शिविर की शुरूआत भी हो गई है। परिषद् का कहना है कि इस अभियान में शिक्षक तन्मयता के साथ कार्य करते हुए दिव्यांग बच्चों को सामान्य बच्चों की तरह शिक्षा मुहैया करवाएं। इस अभियान में प्राईमरी स्तर से लेकर माध्यमिक स्तर के सामान्य शिक्षकों को ट्रेनर द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा।

ये है अभियान का उद्देश्य

पाठ्यनक्रम अनुकूल नामक इस अभियान का उदेश्य समावेशी शिक्षा को बढ़ावा देना है। विभाग का कहना है कि जो पाठयनक्रम सामान्य बच्चों के लिए लगा हुआ है क्यों न उसी पाठ्यनक्रम को दिव्यांग बच्चों के अनुकूल बनाया जाए। क्योंकि दिव्यांग छात्रों में कई मंदबुद्धि या जिनमें ज्ञानइन्द्री की कमी होती हंै। ओढां खंड में प्राईमरी स्तर से 16 व माध्यमिक स्तर के 16 शिक्षकों को ट्रेनर द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जिसमें इस 5 दिवसीय शिविर में ये प्रशिक्षण दिया जाएगा कि दिव्यांग छात्रों को सामान्य छात्रों के साथ बैठाकर किस तरह से शिक्षा दी जाए, उसकी भाषा व इशारों को किस तरह से समझा जाए तथा उसके मानसिक स्तर का पता लगाकर उन्हें किस तरह से सामान्य क्रियाएं सिखाकर आत्मनिर्भर बनाया जाए।

इतिश्रि नहीं चलेगी

देखने में आया है कि शिक्षकों व अभिभावकों द्वारा दिव्यांग बच्चों को एक अलग नजर से देखा जाता था। उक्त छात्र जब कक्षा में बैठते तो उन्हें घर भेज दिया जाता था। जिसके मद्देनजर दिव्यांग बच्चे व उनके अभिभावकों के आयोजित शिविर के बाद इस विषय में जागृति भी प्रदान हुई। विभाग का कहना है कि इस अभियान में शिक्षक किसी भी तरह की कोताही न बरतकर इतिश्रि न करें ताकि सरकार द्वारा चलाए गए इस अभियान का सभी दिव्यांग छात्र लाभ उठाकर आत्मनिर्भर बन सके।

वाहन भत्ते का भी प्रावधान

बीईओ ओढां मधू जैन ने बताया कि दिव्यांग विद्यार्थियों को विद्यालय तक आने जाने के लिए सरकार द्वारा वाहन भत्ते का भी प्रावधान दिया गया है। विभाग द्वारा उन दिव्यांग छात्रों का चयन किया गया है जो स्कूल तक आने में असमर्थ है। ओढ़ां खंड में 210 दिव्यांग छात्रों में से विगत वर्ष 41 बच्चों का चयन किया गया है जिनमें प्रत्येक छात्र को 11 माह का 2750 रूपये वाहन भत्ता वितरित किया गया है। इसके अतिरिक्त 46 बच्चों का मेडिकल चेकअप किया गया है जिसमें से 41 बच्चों के मेडिकल सर्टिफिकेट बनाए गए हैं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top