गुटखा घोटाला मामला: सीबीआई का 30 से अधिक स्थानों पर छापा

0
Gutkha scam case

चेन्नई (एजेंसी)। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने करोड़ों रुपये के गुटखा घोटाले (Gutkha scam case) में बुधवार को तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी विजयभास्कर, पुलिस महानिदेशक टी के राजेंद्रन और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एस जॉर्जके निवास समेत 30 से अधिक स्थानों पर छापे मारे।

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि पूर्व मंत्री बी रामन्ना और विल्लीपुरम में एक किराने की दुकान के मालिक के निवास पर भी छापे मारे गये। उन्होंने बताया कि सुबह लगभग आठ बजे शुरू हुए छापे अब तक जारी हैं। सीबीआई की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई की विशेष टीम छापे मार रही हैं। यह पहली बार है जब सीबीआई राज्य के डीजीपी के निवास पर तलाशी ले रही है।

सूत्रों ने बताया कि राजेंद्रन और जॉर्ज के करीबी माने जाने वाले सभी वर्तमान और पूर्व पुलिस अधिकारी के निवासों पर छापे मारे जा रहे हैं। एक भारतीय राजस्व सेवा (सीमा शुल्क) अधिकारी और खाद्य सुरक्षा एवं आयकर विभाग के कुछ अधिकारियों के ठिकानों पर भी छापे मारे जा रहे हैं।

ये छापे एमडीएम गुटखा के मालिक माधव राव से सीबीआई की पूछताछ के कुछ दिन बाद मारे गये हैं। सीबीआई ने उन लोगों से भी पूछताछ की है जिन्होंने कथित तौर पर शीर्ष अधिकारियों को रिश्वत दी और उनके बयान भी दर्ज किये गये।

यह घोटाला Gutkha scam case 8 जुलाई 2017 को आया था सामने

गौरतलब है कि गुटखा घोटाला आठ जुलाई 2017 को तब सामने आया जब आयकर विभाग ने कर चोरी के संदेह में एक गुटखा कंपनी के मालिक के घर में छापे मारे।

उस पर लगभग 250 करोड़ की कर चोरी का आरोप था। गुटखा कंपनी के मालिक के घर के अलावा गोदाम और कार्यालय पर भी छापे मारे गये थे। छापे के दौरान अधिकारियों को एक डायरी मिली थी, जिसमें उन लोगों के नाम थे, जिन्हें कथित तौर पर पैसे दिए गए थे।

इनमें से एक नाम राज्य के स्वास्थ्य मंत्री का भी था। मद्रास उच्च न्यायालय ने 26 अप्रैल को गुटखा घोटाले से संबंधित मामले की सीबीआई जांच का आदेश दिया था।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।