Breaking News

बहाल हुई हुड्डा की अध्यक्षता वाली को-आॅर्डिनेशन कमेटी

Gulab Nabi Azad cleared the dispute in the press conference

-प्रैस कॉन्फ्रें स में गुलाब नबी आजाद ने विवाद पर दी सफाई

चंडीगढ़ सच कहूँ/अश्वनी चावला। हरियाणा कांग्रेस की कोआॅर्डिनेशन कमेटी को काफी फजीहत होने के बाद एक बार फिर से बाहल कर दिया है। हालांकि इस को-आॅर्डिनेशन कमेटी को बहाल करने की पीछे हरियाणा कांग्रेस प्रभारी गुलाब नबी आजाद कई अन्य कारण गिनाने में लगे हुए हैं परन्तु असल सच्चाई में कोआॅर्डिनेशन कमेटी बनाने से लेकर उसके वापस लेने तक कांग्रेस की आपसी की गुटबाजी ही सामने नजर आई है।
लगातार दो दिन तक कांग्रेस की राजनीतक गलियारों में फजीहत होने के बाद दिल्ली में गुलाम नबी आजाद में बकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए इस कोआर्डिनेशन कमेटी को बहाल करने का ऐलान किया है। इसके साथ ही अब इस को-आर्डिनेशन कमेटी की पहली बैठक मंगलवार को होने जा रही है। जिसमें कमेटी की अगुवाई करने वाले भूपेंद्र सिंह हुड्डा मीटिंग की अध्यक्षता करेंगे। और इस मीटिंग में हरियाणा कांग्रेस प्रभारी अशोक तंवर को भी शामिल होना होगा।

हुड्डा का प्रेशर आया काम!

को-आॅर्डिनेशन कमिटी की अध्यक्षता भूपेंद्र सिंह हुड्डा को देने और तुरंत बाद उस कमेटी को ही वापिस लेने के पश्चात भूपेंद्र सिंह हुड्डा के ग्रुप की तरफ से इतना ज्यादा प्रेशर बनाया गया कि कांग्रेस हाईकमान को इस प्रेशर के आगे झुकना ही पड़ा। बताया जाता है कि कोआर्डिनेशन कमेटी के वापस लेने से हुड्डा की तरफ से साफ संकेत दे दिए गए थे कि इस मामले में उनकी काफी ज्यादा किरकिरी करवाई गई है जिसके चलते वह अब नाराज हो चुके हैं। भूपेंद्र सिंह की इस नाराजगी को देखते हुए गुलाम नबी आजाद की सिफारिश पर कांग्रेस हाईकमान ने कमेटी को बहाल करने के निर्देश जारी कर दिए थे।

हुड्डा की अध्यक्षता में मेंबर नहीं बनना चाहते थे डॉ. तंवर

को-आॅर्डिनेशन कमिटी की अध्यक्षता भूपेंद्र सिंह हुड्डा को देने जाने के पश्चात हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर नाराज हो गए थे क्योंकि वह किसी भी हालत में भूपेंद्र सिंह हुड्डा की अध्यक्षता में किसी भी कमेटी में काम नहीं करना चाहते थे हालांकि भूपेंद्र सिंह हुड्डा का नाम ऐलान हो चुका था। इसलिए कमेटी से उनका नाम हटाया जाना एक गलत संकेत माना जाना था जिसके चलते फिलहाल कमेटी को वापस ले लिया गया था परंतु पिछले 2 दिन से चल रहे घटनाक्रम के आगे अशोक तंवर को भी घुटने टेकने पड़े और कमेटी को बाहर कर दिया गया।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top