बिजली पर चलने वाले वाहन लाएगी सरकार

0
507
Government, Electric Vehicles, Industrial Policy, pollution, Punjab

मुख्यमंत्री ने महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के एमडी पवन गोयनका को नई औद्योगिक नीति के बारे में बताया

चडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। पेट्रोल व डीजल वाहनों के प्रदूषण से चिंतित पंजाब सरकार ने अब नई औद्योगिक नीति लाने की योजना बनाई है। सरकार जल्द ही वातावरण पक्षीय बिजली के वाहनों को लांच करेगी। औद्योगिक नीति में सबसे ज्यादा फोकस इसी मुद्दे पर रहेगा। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोमवार सुबह यहां महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के मैनेजिंग डायरैक्टर पवन गोयनका के साथ एक बैठक की। बैठक के बाद उन्होंने नई औद्योगिक नीति संबंधी ऐलान किया।

गोयनका ने कंपनी द्वारा राज्य में निवेश करने और कारोबार बढ़ाने का प्रस्ताव पेश किया

गोयनका ने कहा कि उनकी कंपनी पंजाब में बिजली के वाहनों को उत्साहित करने में निवेश के लिए इच्छुक है। उन्होंने राज्य में ग्रीन एनर्जी का प्रसार और रोजगार की उत्पत्ति के लिए बिजली टैक्सियां लाने की स्कीम बनाने का सुझाव दिया।

ओला चलाने की योजना बनाई

मुख्यमंत्री ने बताया कि चीन की कंपनी इनलोंग ने हाल ही में राज्य में बिजली कारों और बसों की शुरूआत करने की संभावना संबंधी उनके साथ विचार विमर्श किया था। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा बिजली टैक्सियों के लिए ओला के साथ बातचीत चलाई जा रही है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उनकी सरकार बिजली वाहनों को रिवायती वाहनों का बदल बनाने की इच्छुक है।

टरिंगो एप से भेज सकेंगे किराए पर ट्रैक्टर

प्रवक्ता ने बताया कि ऊबर जैसी ट्रैक्टरों के लिए भी टरिंगो नाम की एप आंरभ करने के प्रस्ताव पर विचार किया गया। यह एप ट्रैक्टर मालिकों को अपना वाहन किराये पर देने के योग्य बनाएगी। गोयनका द्वारा पंजाब में अपने ट्रैक्टर यूनिटों के प्रसार के लिए की गई अपील पर मुख्यमंत्री ने सहमति देते इस संबंध में प्रस्ताव सौंपने के लिए कहा।

फसल विभिन्नता पर दिया जोर

गोयनका अनुसार महिन्द्रा एंड महिन्द्रा निर्यात करने के लिए आलूओं का बीज विकसित करने में दिलचस्पी दिखाई। मुख्यमंत्री ने बागवानी व फूलों की काश्त द्वारा फसली विभिन्नता को उत्साहित करने के लिए अपने स्टैंड को दोहराते हुए फसली चक्कर को तोड़ने की आवश्यकता पर बल दिया ताकि किसानों को कर्जे के भार से मुक्त किया जा सके।

सहयोग के लिए धन्यवाद

गोयनका ने मुख्यमंत्री द्वारा अपने पिछले कार्यकाल दौरान राज्य में कपंनी को अपना कारोबार स्थापित करने में दिये सहयोग के लिए उनका धन्यवाद किया। पंजाब में 6000 लोग को प्रत्यक्ष और 30000 लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से कंपनी में नौकरी कर रहे है और राज्य से कं पनी को मौजूदा समय 6000 करोड़ की आय होती है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।