सरकार लोगों को बांटने का प्रयास कर रही है : आनंद शर्मा

0
Congress spokesperson

सरकार को राजधर्म के पालन की बार- बार दिलाएंगे याद: कांग्रेस

(Congress spokesperson)

  • धारा 144 का दुरुपयोग किया गया

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। कांग्रेस ने कहा है कि राजधर्म का पालन सरकार का दायित्व होता है लेकिन मोदी सरकार लगातार इसका उल्लंघन कर रही है, इसलिए जिम्मेदार विपक्ष के नाते कांग्रेस राजधर्म के निर्वहन करने की बार बार उसे याद दिलाएगी। कांग्रेस प्रवक्ता आनंद शर्मा ने शनिवार को यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि सरकार समाज में भय का वातावरण पैदा कर लोगों को बांटने का प्रयास कर रही है। भय का माहौल शासन, प्रशासन और पुलिस के डर से पैदा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राजधर्म शब्द को लेकर मोदी सरकार को चिढ़ है लेकिन उसे यह नहीं भूलना चाहिए राजधर्म के पालन की जिम्मेदारी सरकार की होती है और विपक्ष की नहीं।

सरकार दुर्भावना से काम कर रही है और उनका निशाना राजनीतिक विरोधी होते हैं

विपक्ष की जिम्मेदारी है कि वह सरकार को याद दिलाए कि राजधर्म का पालन नहीं किया जा रहा है और कांग्रेस अपने इस दायित्व का बार बार निर्वहन करेगी तथा सरकार को बताएगी कि राजधर्म का पालन नहीं हो रहा है। शर्मा ने कहा कि सरकार दुर्भावना से काम कर रही है और उनका निशाना राजनीतिक विरोधी होते हैं।

  • इसके लिए वह निरंतर सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है।
  • उसे राजधर्म का पालन करना चाहिए लेकिन वह भटक गयी है
  • ऐसा लगता है कि उसे राजधर्म का पालन करना नहीं आता है।

जो लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे थे उनके खिलाफ संगीन धाराओं का इस्तेमाल किया गया है

Congress spokesperson

दिल्ली हिंसा को लेकर कई मामलों में सरकार पर पारदर्शिता के साथ काम नहीं करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि नागरिकों के मौलिक अधिकारों को कुचला गया है और धारा 144 का दुरुपयोग किया गया है। कई मामलों में जानबूझकर कार्रवाई नहीं हुई है वरना दंगे रोके जा सकते थे। उन्होंने कहा कि जो लोग धरना दे रहे थे और विरोध प्रदर्शन कर रहे थे

  • उनके खिलाफ संगीन धाराओं का इस्तेमाल किया गया है।
  • कुछ लोगों के खिलाफ ऐसी धाराएं लगायी जा रही हैं जिनमें जमानत नहीं है।
  • सरकार लोगों के अधिकारों को नकार रही है।

सब कुछ ठीक का, सरकारी दावा आधारहीन

Congress spokesperson

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार ने देश की प्रगति को रोक दिया है और आर्थिक विकास को लेकर उसके पास सोच, समझ और दृष्टि नहीं है इसलिए असलियत छिपाने के लिए वह सब कुछ ठीक होने का आधारहीन दावा कर रही है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने शनिवार को यहां पार्टी मुख्यालय में विशेष संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सकल घरेलू उत्पाद-जीडीपी के जो आंकड़े सामने आए हैं वे चौंकाने वाले हैं।

  • कई दशकों से तीसरी तिमाही के आंकड़े अक्सर मजबूत रहे हैं
  • इस बार सात साल में इस तिमाही की जीडीपी दर सबसे कम होकर 4.7 प्रतिशत बताया गई है
  • जो वास्तव में इससे भी बहुत कम है।
  • दशकों में पहली बार जीडीपी में ऐसी गिरावट दर्ज की गयी है
  • यह सरकार की दिशाहीन आर्थिक नीति का परिणाम है।

 सरकार का आर्थिक स्थिति में सुधार का दावा आधारहीन है। सरकार ने खुद कहा है कि सालाना जीडीपी का उसने जो अनुमान व्यक्त किया है वह उससे भी कम हो गया है। देश में बड़ी संख्या में कारखाने बंद हो रहे हैं, आटोमोबाइल क्षेत्र में दस या 15 दिन महीने में काम हो रहा है जबकि वहां पहले एक दिन में तीन-तीन शिफ्ट में काम होता था।

  • देश में निर्माण नहीं हो रहा है, रोजगार लगातार टूट रहा है।
  • निवेश गिर गया है।
  • निर्यात कम हुआ है।
  • लोगों के पास पैसा नहीं है।
  • इसलिए मांग निरंतर गिर रही है ।
  •  आपूर्ति भी कम हो रही है।

  सरकार को वास्तविकता को नकारे बिना गांव तक लोगों की आय बढाने के लिए महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना-मनरेगा को 150 दिन कर दिहाड़ी पांच सौ रुपए प्रति दिन करने का तत्काल फैसला लेना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाय कि सरकार गरीबों के प्रति संवेदनहीन है और उसका पूरा ध्यान सिर्फ पूंजीवादी व्यवस्था के पोषण पर है इसलिए वह पूंजीपतियों को कर में छूट दे रही है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।