कारोबार के अनुकूल माहौल बनाने में जुटी रही सरकार

0
Economic

अप्रैल से नवंबर 2019 तक वस्तु व्यापार 211.93 अरब डॉलर रहा है (Economic)

नई दिल्ली (एजेंसी)। सरकार के आर्थिक सुधारों तथा कारोबार को सुगम (Economic) बनाने के प्रयासों के इस वर्ष अच्छे नतीजे दिखायी दिए और भारत कारोबारी सुगमता की रैंकिंग में 63वें पायदान पर पहुंचने में कामयाब रहा तथा नवाचार के संदर्भ में 52वें स्थान पर आ गया। वहीं, विदेश व्यापार के मोर्चें पर सभी कदम विफल होते दिखे। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में उथल-पुथल और प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के संरक्षणवादी रुख तथा गैर-शुल्क बाधाओं के कारण 2019-20 के लिए 500 अरब डॉलर के निर्यात का लक्ष्य निर्धारित किया गया था जिसमें पहले आठ महीने में नवंबर तक कुल निर्यात 353.96 अरब डॉलर ही रहा, जिसमें वस्?तु एवं सेवाएं शामिल हैं। पिछले वर्ष इसी अवधि में आयात 408.02 अरब डॉलर रहा था। अप्रैल से नवंबर 2019 तक वस्तु व्यापार 211.93 अरब डॉलर रहा है।

पिछले वर्ष भारत का स्थान 77वां था

  • इस वर्ष के दौरान सरकार आर्थिक सुधार पर जोर देती रही जिसका असर अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं की रैंकिंंग में दिखायी दिया।
  • देश ने विश्व बैंक की कारोबारी सुगमता (इज आॅफ डूइंग बिजनेस) रिपोर्ट 2020 में शानदार छलांग लगाई ।
  •  14 स्थान चढ़कर 190 देशों में 63वें स्थान पर पहुंच गया।
  • पिछले वर्ष भारत का स्थान 77वां था। देश ने 10 में से सात संकेतकों में सुधार किया है ।
  • और अंतर्राष्ट्रीय श्रेष्ठ मानकों के निकट पहुंच गया है।
  • विश्व बैंक अक्टूबर में जारी रिपोर्ट में भारत को कारोबारी सुगमता में सुधार करने वाले 10 शीर्ष देशों में माना गया है।
  • यह लगातार तीसरा साल है जब देश की रैंकिंग बेहतर हुई है।
  • तीन वर्षों में भारत ने 67 रैंकों का सुधार किया है।
  • वर्ष 2011 से लेकर अभी तक किसी बड़े देश द्वारा लगाई गई यह सबसे ऊंची छलांग है।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल कने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।