12 लाख में दो आतंकियों को करने वाला था आजाद

0
suspended DSP Davinder Singh's relatives house was also raided - Sach Kahoon News

डीएसपी देवेन्द्र सिंह ने पूछताछ में कबूला | Terrorist helper

नई दिल्ली (एजेंसी)। वांछित आतंकियों के साथ पकड़े गए राष्ट्रपति पदक से सम्मानित डीएसपी देविन्दर सिंह से पूछताछ में नए-नए खुलासे हो रहे हैं। पूछताछ में डीएसपी ने कबूला कि आतंकियों (Terrorist) को जम्मू और उसके बाद चंडीगढ़ (Chandigarh) पहुंचाने के लिए 12 लाख रुपये मिले थे। इसके बाद आतंकियों की योजना दिल्ली जाने की थी। यह जानकारी आईजी (कश्मीर) विजय कुमार ने मीडिया को दी। खुफिया सूत्रों ने बताया, ‘असली मकसद नवीद बाबू और उसके सहयोगी को कश्मीर से बाहर ले जाना था। इसके बाद इन्हें पाकिस्तान भागने में मदद करना था। नवीद बाबू शोपियां में आतंक का चेहरा था। इस आतंकी के ऊपर कई पुलिस अफसरों की हत्या का आरोप है।

गणतंत्र दिवस पर हमले करने की थी योजना

खुफिया सूत्रों ने कहा कि आतंकवादियों (Terrorist) ने गणतंत्र दिवस पर हमले करने की योजना बनाई थी। बता दें कि गिरफ्तारी के वक्त देवेन्द्र सिंह की तैनाती श्रीनगर हवाई अड्डे पर जम्मू-कश्मीर पुलिस की सुरक्षा और एंटी-हाईजैकिंग यूनिट में थी। गत दिवस डीएसपी को निलंबित कर दिया गया और आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए मिले राष्ट्रपति सम्मान सहित उनके सभी अवार्ड वापस लिए जाने की संभावना है। सूत्रों के अनुसार पुलिस के अलावा आईबी, मिलिट्री इंटेलिजेंस, रॉ सहित कई खुफिया एजेंसियों ने देविन्दर से पूछताछ की। इंटेलिजेंस सूत्रों ने बताया कि पूछताछ में देवेन्द्र ने खुलासा किया कि उन्होंने आतंकियों को श्रीनगर स्थित अपने इंदिरा नगर वाले घर में पनाह दी थी। यह घर आर्मी के 15 कॉर्प्स हेडक्वार्टर के बगल में है।

ऐसे खुला भेद

  • देवेंद्र सिंह कई हफ्तों से पुलिस के रडार पर थे।
  • शोपियां के एसपी संदीप चौधरी ने देवेंद्र सिंह से जुड़े संदिग्ध कॉल को सबसे पहले रिकॉर्ड किया।
  • उन्होंने तुरंत वरिष्ठ अधिकारियों को इस संबंध में जानकारी दी।
  • देवेंद्र सिंह आतंकी नवीद बाबू को श्रीनगर लाने कुछ दिन पहले शोपियां गया हुआ था।
  • डीएसपी देवेंद्र सिंह अब नवीद बाबू और रफी को भागने में मदद कर रहा था।
  • तीनों को जवाहर टनल से पहले पकड़ा गया।

घर से मिला हथियारों का जखीरा

  • देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने श्रीनगर के इंदिरा नगर स्थित उसके घर की तलाशी ली।
  • यहां हथियारों का जखीरा मिला। पुलिस ने यहां से 5 ग्रेनेड, 3 एके-47 राइफल बरामद किए हैं।

बांग्लादेश में डॉक्टरी पढ़ रही हैं बेटियां

  • देवेंद्र सिंह (57) की एक संपत्ति श्रीनगर और दूसरी जम्मू में हैं।
  • इसका परिवार त्राल में रहता है और यहां उसका सेब का बगान है।
  • देवेंद्र के माता-पिता दिल्ली में उसके भाई के पास रहते हैं। देवेंद्र सिंह की पत्नी शिक्षक है और इसके तीन बच्चे हैं।
  • दो बेटियां बांग्लादेश में डॉक्टरी पढ़ रही हैं, जबकि बेटा स्कूल जाता है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।