बेजुबान गोयरे का करवाया इलाज, बच्चों की तरह कर रहे हैं उसकी देखभाल

0
Got poor goera treated, taken care like children
डबवाली/राजमीत इन्सां|पूज्य गुरु संत डॉ.  गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन शिक्षा पर चलते हुए डेरा श्रद्धालु यहां लॉक डाउन में जरूरतमंद लोगों को राशन, सैनिटाइजर और इसके साथ-साथ आवारा पशुओं को हरा चारा डालने का काम कर रहे हैं और पक्षियों के लिए घरों की छतों पर दाना चोगा डालने का काम कर रहे हैं। वहीं गर्मी के सीजन को देखते हुए पक्षियों के पानी के लिए वृक्षों पर स्कोरे भी लगा रहे हैं 134 मानवता भलाई के कार्यो में से एक बेजुबान जानवरों का इलाज भी करवा रहे हैं इसका एक उदाहरण गांव मसीतां में देखने को मिला
15 मेंबर भिंदर इन्सां ने बताया कि एक सप्ताह पहले 15 मैबर जगसीर सिंह इन्सां अपने खेत से मशीन द्वारा तूडी बना रहे थे इस दौरान एक ‘गोयरा’ तूडी बनाने वाली मशीन में फस गया जिससे उसकी दो टांगें व पूंछ कट गई। जब जगसीर सिंह इन्सां को पता चला तो उन्होंने उसी टाइम मशीन बंद कर गोयरा को बाहर निकाला और डॉ. को बुलाकर उसका इलाज शुरू करवाया। उन्होंने बताया कि अब एक सप्ताह में गोयरा बिल्कुल ठीक हो गया है। परंतु उसके दो टांगें कट चुकी है और पूंछ भी कटी हुई है और अब गोयरा स्वस्थ है और खाना पीना सही खा रहा है उन्होंने बताया कि जगसीर सिंह ‘गोयरे’ का अपने बच्चों की तरह सारा दिन उसकी देखभाल कर रहे है जबकि इनसे इतना डरने की जरूरत नहीं होती जानवर भी इंसानों के मित्र बन जाते है इस मौके पर हरप्रीत इन्सां, धर्म सिंह इन्सां व अन्य मौजूद थे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।