गीता जयंती में हुए खर्च पर कांग्रेस ने उठाई अंगुली

0
  • पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा ने प्रदेश सरकार पर लगाए आरोप

ChandiGarh, Anil Kakkar: कांग्रेस के नेता एवं मौजूदा विधायक कुलदीप शर्मा तथा करण दलाल ने आज हरियाणा की भाजपा सरकार की नीतियों तथा कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए। बुधवार को वे चंडीगढ़ स्थित आवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा ने कहा कि सरकार ने गीता जयंती समारोह पर करीबन 134 करोड़ रुपए खर्च किए जिसका आम जनता को कोई लाभ नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि अगर सरकार चाहती तो बहुत थोड़े पैसों में प्रदेश के हर पढेÞ-लिखे इंसान को गीता मुफ्त में मुहैया करवा सकती थी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के मंत्रियों तथा सीपीएस द्वारा भिवानी यज्ञ के दौरान पंडितों को पुरानी करंसी के नोट दक्षिणा के रूप में दिए गए जो कि पंडितों का अपमान है। वहीं उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार के मंत्रियों द्वारा क्रमश: 21, 7 एवं 5 लाख रुपए भिवानी में देने का ऐलान किया गया जो कि सरकारी संपत्ति का दुरुपयोग है। वहीं उन्होंने नोटबंदी पर केंद्र की मोदी सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि मोदी सरकार का यह फैसला आमजन के लिए पीड़ादायक साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी का फैसला 2016 के साल का सबसे दुर्भाग्यपूर्ण फैसला था।

मौलाना ने अगर सवाल उठाया है तो कुछ कारण होगा
वहीं कांग्रेस में आपसी फूट से बढ़ते विवाद के बीच पूर्व हरियाणा कांग्रेस कमेटी के प्रधान फूल चंद मुलाना द्वारा पार्टी फंड के दुरुपयोग के आरोप लगाए जाने के सवाल पर शर्मा ने कहा कि मौजूदा प्रदेश पार्टी प्रधान अशोक तंवर हैं और मौलाना पार्टी के सीनियर नेता हैं अगर मौलाना कोई सवाल कर रहे हैं तो उसके पीछे कोई न कोई वजह जरूर होगी। बता दें कि मौलाना ने कहा था कि जब वे पार्टी प्रधान के पद से गए थे तो पार्टी फंड में 7 करोड़ रुपए का फंड था लेकिन अब 40-45 लाख रुपए ही बचे हैं। कुछ रोज़ पहले खबरें छपीं थी कि चंडीगढ़ स्थित कांग्रेस के हैडक्वार्टर में काम कर रहे वर्करों को सैलेरी देने तक के पैसे नहीं हैं। इस पर काफी बवाल हुआ था कांग्रेस की किरकिरी भी हुई। हालांकि इस दौरान भी कांग्रेसी नेता आपस में दोषारोपण करते ही नज़र आए।