गैस सिलेंडर फटा, चाय का खोखा जलकर राख

0
Gas Cylinder Blast

खोखा संचालक ने गैस एजेंसी कर्मियों पर लगाया लापरवाही का आरोप (Gas Cylinder Blast)

हनुमानगढ़। जंक्शन में जिला क्लब के बाहर बने चाय के खोखे में रखा गैस सिलेंडर फट गया। आग लगने से खोखा कुछ ही देर में जलकर राख हो गया। गनिमत रही कि गैस सिलेंडर में आग लगते ही खोखा संचालक दूर जा खड़ा हो गया। इस कारण सिलेंडर फटने से जानी नुकसान होने से बच गया। लेकिन आग लगने से खोखे के राख के ढेर में तब्दील होने के साथ पास ही खड़ी दो बाइक व एक साइकिल को भी आग की चपेट में आने से नुकसान हुआ। घटना से एकबारगी आसपास के क्षेत्र में हड़कंप मच गया। मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। खोखा संचालक ने इस घटना के पीछे गैस एजेंसी कर्मियों की लापरवाही को जिम्मेवार ठहराते हुए मुआवजे की मांग की।

आग लगने से दो बाइक व साइकिल भी आई चपेट में

जानकारी के अनुसार जिला कलक्ट्रेट के पास स्थित महिला पुलिस थाने से चिपते जिला क्लब के बाहर चाय का खोखा संचालित था। रविवार सुबह खोखा संचालक जयनारायण चाय तैयार कर रहा था। इसी दौरान गैस सिलेंडर से गैस लीकेज होने लगी। देखते ही देखते गैस सिलेंडर में आग लग गई। यह देखकर घबराया खोखा संचालक कुछ दूर जाकर खड़ा हो गया। उसके दूर जाते ही तेज धमाके के साथ गैस सिलेंडर फट गया। गैस सिलेंडर के टुकड़े-टुकड़े दूर-दूर जा गिरे। गैस सिलेंडर फटते ही खोखे में आग लग गई और लपटें उठने लगी।

तेज धमाके के साथ गैस सिलेंडर फटने पर जिला क्लब में खेल रहे खिलाड़ी व आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। खोखे के पास ही खड़ी एक बुलेट सहित दो मोटर साइकिल व एक साइकिल में भी आग लग गई। कुछ देर बाद खोखा राख के ढेर में बदल गया। लेकिन फायर ब्रिगेड मौके पर नहीं पहुंची। खोखे के राख के ढेÞर में तब्दील होने पर जयनारायण फूट-फूट कर रोने लगा। सूचना मिलने पर जंक्शन पुलिस मौके पर पहुंची।

तीन बार लेकर आया गैस सिलेंडर, तीनों ही थे लीक

खोखा संचालक बुजुर्ग जयनारायण ने बताया कि वह लम्बे समय से जिला क्लब खेल मैदान के बाहर चाय का खोखा लगाकर अपना व परिवार का जीवन-यापन कर रहा था। वह शनिवार को ही इंडेन गैस एजेंसी से गैस सिलेंडर लेकर आया था जो लीकेज हो रहा था। इसके बाद वह दोबारा गैस एजेंसी गया और बदलवाकर गैस सिलेंडर लेकर आया, लेकिन वह भी लीकेज कर रहा था। इस पर वह उस गैस सिलेंडर को भी गैस एजेंसी में छोड़ आया।

रविवार को वह फिर गैस सिलेंडर लेकर आया। गैस सिलेंडर लगाया तो उसमें से भी गैस लीक हो रही थी। गैस सिलेंडर लगाकर उसने गैस चूल्हा आॅन किया तो गैस सिलेंडर में आग लग गई। वह दूर जाकर खड़ा हो गया तो खोखे में भी आग लग गई और गैस सिलेंडर फट गया। खोखा जलने से उसे काफी नुकसान हो गया। जयनारायण ने गैस एजेंसी कर्मियों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए आग लगने से हुए नुकसान का मुआवजा देने की मांग की।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।