खुद का मकान देख भावुक हुआ गरीबण सिंह

0
149
Welfare Work

डेरा श्रद्धालुओं ने कुछ ही घंटों में बनाया प्रवासी मजदूर का मकान

बरनाला(सच कहूँ/जसवीर सिंह गहल)। डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालु किसी फरिश्ते से कम नहीं, जो अपने निजी व्यस्तताओं में से समय निकालकर मानवता भलाई के कार्याें में आवश्यक्ता अनुसार नि:स्वार्थ भावना से सेवा कार्य कर रहे हैं। ऐसा ही उदाहरण ब्लॉक महल कलां के गांव कैरे में देखने को मिला, जहां डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत ने पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन शिक्षाओं पर चलते एक प्रवासी परिवार की मकान बनाने में सहायता की और कुछ घंटों में ही मकान बना कर परिवार को सौंप दिया।

साध-संगत ने गरीबण सिंह को दस हजार की नगद सहायता भी दी

ब्लॉक समिति जिम्मेदार मास्टर गुरचरन सिंह इन्सां और गाँव इकाई के भंगीदास प्रगट सिंह इन्सां ने जानकारी देते बताया कि प्रवासी मजदूर गरीबण सिंह पिछले लंबे समय से इस गांव में रह कर जमीनदारों परिवारों के हिस्सेदार के तौर पर काम करता हुआ अपने परिवार में शामिल पत्नी और तीन बेटियों का पेट पाल रहा है। परेशानियों के साथ जूझते गरीबण सिंह ने अपना और अपने बच्चों का पेट बांध कर मकान बनाने के लिए जगह तो खरीद ली परन्तु पहले ही किराये के मकान में जीवन व्यतीत करने के चलते मकान का निर्माण करने से पूरी तरह असमर्थ था।

गरीबण सिंह ने अपने मकान के निर्माण के लिए गांव इकाई के जिम्मेवारों और साध-संगत के पास पहुंचकर सहायता की मांग की, जिसके बाद साध-संगत ने पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां द्वारा दिखाए गए मानवता भलाई के रास्ते पर चलते शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फेयर फोर्स विंग के भाई-बहनों के नेतृत्व में गरीबण सिंह का मकान बनाने का जिम्मा उठाया और नये सिरे से कुछ घंटों में ही मकान बनाकर गरीबण सिंह के परिवार को सौंप दिया। यहीं बस नहीं साध-संगत ने अपनी उदारता पूर्वक का प्रमाण देते हुए गरीबण सिंह को दस हजार रुपए की नगद सहायता राशि भी प्रदान की। साध-संगत ने लंगर भोजन का प्रबंध भी स्वयं ही किया।

पूज्य गुरू जी की शिक्षा महान : गरीबण सिंह

कुछ घंटों में ही अपना खुद का मकान बना देख भावुक हुआ गरीबण सिंह और उसका परिवार डेरा सच्चा सौदा के भाई-बहनों की शान में बेहद उच्च शब्दों का प्रयोग कर रहा था। कह रहा था कि ‘डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालु उसके लिए वह फरिश्ते हैं, जिन्होंने उसका अपने मकान का सपना पूरा कर न सिर्फ इंसानियत के सच्चे पहरेदार होने का बखूबी सबूत दिया है बल्कि पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की महान शिक्षाओं का प्रत्यक्ष प्रमाण भी पेश किया है, जिसके अंतर्गत पूज्य गुरू जी और इनके श्रद्धालु सजदा करने के काबिल हैं।

इन सेवादारों ने निभाई सेवा

मकान बनाने में उक्त के अलावा हरतेज सिंह इन्सां, गुरविन्दर सिंह, हरबंस सिंह, तेजिन्दर सिंह, रुपा सिंह, अरसी, नूरदीप, दुल्ला सिंह ठीकरीवाला, राम सिंह, मैंबर अंग्रेज सिंह, मिट्ठू सिंह बेलदार, मिस्त्री गुरप्रीत सिंह इन्सां, राम सिंह, अमनदीप कौर यूथ जिम्मेदार, गुरप्रीत कौर इन्सां, किरनदीप कौर इन्सां, सिमरनजीत कौर इन्सां, खुशी इन्सां आदि का भव्य योगदान रहा।

मानवता भलाई का संदेश काबिले तारीफ

संपर्क किए जाने पर सरपंच अमरजीत कौर के पति समाजसेवी बलौर सिंह ने कहा कि डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालु बढ़चढ़ कर मानवता भलाई के कार्य कर रहे हैं, जिसके अंतर्गत डेरा श्रद्धालुओं की प्रशंसा जितनी भी की जाये कम है। उन्होंने कहा कि पूज्य गुरूसंत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां द्वारा मानवता भलाई करने का दिया गया संदेश काबिले तारीफ है। उन्होंने गांवों में भाईचारक सांझ को मजबूत करने के उद्देश्य से ऐसे कामों के लिए हर किसी को आगे आने का न्योता दिया।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।