Breaking News

राजकीय सम्मान के साथ हुई जेल प्रहरी की अंत्येष्टि

Funeral of Prison Sentinel

एसपी ने नोहर थाना प्रभारी को सौंपी जांच, आरोपितों की तलाश में जारी रही छापामारी

  • बेटे ने दी मुखाग्नि, देर शाम को वार्ता को बाद उठाया था शव

हनुमानगढ़, सच कहूँ न्यूज। जेल में बंदियों को मनचाही सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराने की रंजिश को लेकर किए गए जानलेवा हमले में गंभीर जख्मी जेल प्रहरी की मौत होने से उपजा विवाद शांत होने पर शुक्रवार देर शाम को गांव खुईयां में जेल प्रहरी सुखदास स्वामी (30) पुत्र रामप्रताप स्वामी की राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि कर दी गई। जेल प्रहरी के पार्थिव शव को उनके बेटे श्यामसुंदर ने अपने हाथों से मुखाग्नि दी। अंत्येष्टि से पहले पुलिस जवानों ने हवा में गोलियां दागकर जेल प्रहरी को सलामी दी।  अंत्येष्टि के समय नोहर के पुलिस उप अधीक्षक अत्तर सिंह पूनिया के नेतृत्व में भारी संख्या में पुलिस बल गांव खुईयां में तैनात रहा। इसके अलावा भारी तादाद में पहुंचे ग्रामीणों ने जेल प्रहरी को नम आंखों से अंतिम विदाई दी।

  इससे पहले शुक्रवार शाम को जिला कलक्टर जाकिर हुसैन व पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत की प्रतिपक्ष के उपनेता राजेन्द्र राठौड़, नोहर विधायक अमित चाचाण, भादरा विधायक बलवान पूनिया आदि के साथ हुई वार्ता में सात सूत्री मांगों पर सहमति बनने के बाद ग्रामीण शव उठाने पर राजी हुए। इसके बाद नोहर के राजकीय अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम हुआ।

उधर, पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने जेल प्रहरी की हत्या मामले की जांच नोहर थाना प्रभारी विक्रमसिंह को सौंप दी है। इससे पहले मामले की जांच खुईयां थाना प्रभारी सुरेश मील कर रहे थे। लेकिन वार्ता में हुई सहमति के अनुसार एसपी ने खुईयां थाने के समस्त स्टाफ को लाइन हाजिर कर दिया। इस पर हत्या मामले की फाइल अब नोहर थाना प्रभारी के पास भेजी गई है।

पुलिस की टीमों ने मुख्य आरोपितों की धरपकड़ के लिए शनिवार को भी हरियाणा व पंजाब में कई जगह छापेमारी की। इस मामले में पुलिस तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है जबकि मुख्य आरोपित अभी पकड़ से दूर हैं। ग्रामीणों ने वार्ता के अनुसार मुख्य आरोपितों की पांच दिन में गिरफ्तारी नहीं होने पर चक्काजाम करने की चेतावनी दी है।

  • जेल में रची हमले की साजिश

जांच में खुलासा हुआ कि सद्दाम पठान (27) पुत्र अहमद अमीर निवासी नोहर व अक्षय कुमार (21) पुत्र हनुमान टांडी निवासी नगरासरी की नोहर के उप कारागृह में मनचाही सुविधाएं उपलब्ध नहीं करवाने को लेकर जेल प्रहरी सुखदास स्वामी के साथ बोलचाल हो गई थी। इसी रंजिश में उन्होंने जेल में ही प्रहरी सुखदास की हत्या की साजिश रची और उस पर जानलेवा हमला करवाया। हमला करने वाला मुख्य आरोपित अजहरूद्दीन जेल में बंद सद्दाम पठान का भाई है। इस खुलासे के बाद खुईयां पुलिस ने सद्दाम पठान व अक्षय कुमार को गत दिनों नोहर के उप कारागृह से प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार कर पूछताछ की थी। इससे पहले पुलिस इस मामले में हुसैन (22) पुत्र इकरामुद्दीन तेली निवासी वार्ड नम्बर 28 नोहर को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भिजवा चुकी है। नामजद आरोपित अजहरूद्दीन व मणी अभी तक फरार हैं।

  • अचानक तबीयत बिगड़ने के बाद हुई मौत

हमले में गंभीर जख्मी सुखदास का हनुमानगढ़ टाउन के राजकीय जिला चिकित्सालय में करीब 12-13 दिन तक इलाज चला। इसके बाद स्वास्थ्य में सुधार होने पर सुखदास स्वामी को दस मई को जिला अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। 22 मई की शाम करीब छह बजे अचानक सुखदास स्वामी की तबीयत खराब हो गई तथा ब्लड प्रेशर कम हो गया। उसे परिजन तत्काल नोहर के राजकीय अस्पताल लाए लेकिन इलाज के दौरान रात करीब आठ बजे सुखदास स्वामी की मौत हो गई।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top