पंजाब

बरसात से किसानों के खिले चेहरे

Fresh faces, Farmers, Rainy, season

राहगीरों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा

मानसा (सुखजीत मान)।

पिछले कई दिनों से आसमान में चढ़ी धूल की पर्त से हुई बरसात से छुटकारा मिल गया है, जिले भर में बीती देर रात व सुबह हुई इस बरसात ने किसानों सहित हर वर्ग के चेहरे पर रौनके छा गई हैं। यह बरसात जहां कृषि सैक्टर में नरमे सहित सब्जियां व हरे चारों के लिए वरदान साबित होगीं वही गर्मी और धूल के कारण बीमार हो रहे लोगों के स्वास्थ्य में भी सुधार आएगा। किसानों का कहना है कि चाहे ही सरकार उनके साथ बिजली पानी बंद करके द्रोह कमा रही है परन्तु प्रकृति ने आज उनका साथ दिया है किसानों में चाहे इस बारिश के साथ खुशी की लहर है परन्तु शहरी क्षेत्रों में निचले स्थानों पर पानी भर गया जिस कारण राहगीरों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

मानसा के सिनेमा रोड, बस स्टैंड चौंक, भाई नगर मोहल्ला, अंडर ब्रिज, त्रिवेणी मंदिर रोड, गौशाला रोड, जवाहरके रोड आदि सहित ओर कई स्थानों पर पानी जमा हो गया। सड़कों पर जमा पानी के कारण राहगीर मुश्किलों के साथ जूझते नजर आए।

दोपहिया वाहन चालकों को अधिक परेशानी झेलनी पड़ी। नगर कौंसिल अध्यक्ष मनदीप सिंह गोरा ने कहा कि बरसात के पानी से शहर निवासियों को निजात दिलाने की उनकी कोशिश जारी है। उन्होंने कहा कि पद संभालते ही शहर के सीवरेज की सफाई का काम शुरू करवा दिया था जो जारी है। जोहड़ की खुदवाई का काम भी लगातार चल रहा है, जिससे बरसातों का पानी इस जोहड़ में आकर रुक सके। अंडर ब्रिज में से पानी निकालने के लिए भी मोटरें चलाईं गई हैं।

बुढलाडा में हुई सबसे अधिक बरसात
बीती कल देर रात से रुक -रुक हुई बरसात ने मौसम में ठंडक पैदा कर दी है। मौसम विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट अनुसार जिले में सबसे अधिक बरसात बुढलाडा में 15.2 एमएम दर्ज की गई है जबकि भीखी में सबसे कम 5.2 एमएम बारिश हुई है । इसके अलावा मानसा में 6.6 एमएम, सरदूलगढ़ में 6.4 एमएम व बरेटा में 7.2 एमएस बरसात मौसम विभाग ने दर्ज की है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

 

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019