पंजाब

सिद्धू ने चार अफसरों को किया सस्पेंड

Income Tax, Department, Seized, Bank Accounts, Navjot Singh Sidhu

हर हाल में फास्ट-वे से वसूला जाएगा 2600 करोड़ का टैक्स: सिद्धू

  • केबल-माफिया पर सिद्धू ने फिर साधा निशाना
  • नगर निगम व नगर परिषदें को बकाया टैक्स वसूलने के आदेश

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने फिर से केबल माफिया पर जमकर भड़ास निकाली। सिद्धू ने इस मामले में 4 एसई (सुपरिडैंट इजीनियरों) को सस्पैंड कर दिया है। उन्हें टैंडरों में अनियमितताओं के मामले में सस्पैंड किया गया है। चार एसई के नाम पीके गोयल, कुलविन्द्र सिंह, पवन शर्मा व धर्म सिंह हैं।

स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि फास्ट-वे कंपनी ने 2600 करोड़ रुपये के टैक्स की चोरी की है। राज्य सरकार हर हाल में इसकी वसूली करेगी। इस संबंध में नगर निगमों व नगर परिषदों से कहा गया है कि फास्टवे को बकाया टैक्स की वसूली के लिए नोटिस जारी करें।

कैप्टन की रजामंदी से उठाए कदम

पत्रकारों से बातचीत में सिद्धू ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार किसी भी हालत में भ्रष्टाचार सहन नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में केबल पॉलिसी बनेगी और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह इसके खिलाफ नहीं हैं। वह अपने सारे कदम मुख्यमंत्री की रजामंदी और आदेश से उठा रहे हैं।

वरिष्ट अधिकारियों की मिलीभगत

निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू कहा कि फास्टवे कंपनी ने 2600 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी की है। यह राशि हर हाल में वसूल की जाएगी। इस मौके पर कुछ साल पहले फास्टवे कंपनी के मामले के एक पूर्व वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। उन्होंने जांच के बारे में खुलासा किया। सिद्धू ने इन बातों को गलत बताया कि सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह राज्य में केबल नीति बनाने के खिलाफ हैं। उन्होंने कहा कि सीएम ने केबल नीति बनाए जाने से इन्कार नहीं किया है। राज्य सरकार जल्द केबल नीति बनएगी।

केवल 325 बॉक्स ही रजिस्टर्ड

रिटायर्ड एक्साईज कमिश्नर एसएन गोयल ने कहा कि फास्ट-वे ने केबल आप्रेटरों को टैक्स की जानकारी नहीं दी। 8 हजार केबल आप्रेटरों में से केवल 325 ही रिजस्टर्ड हैं। फास्ट वे सैट आफ बाक्स भी बेचे हैं। उसने सिक्योरिटी के नाम पर धोखाधड़ी की है।

अकाली-भाजपा सरकार में कई घोटाले हुए है। पर सरकार और विजिलेंस ने इस तरफ ध्यान नहीं दिया। उन्होंने अपने विभाग की जांच करवा दी है। विजीलैंस जांच मुख्यमंत्री करवा देंगे। सिद्धू ने व्यंग्य करते कहा कि अभी तो पार्टी शुरू हुई है।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019