पंजाब

भूख हड़ताल में शामिल हुए चार और सदस्य

Four Members. Hunger Strike, Punjab

तीसरे दिन भी दो नर्सें व कर्मचारी राजिन्द्रा अस्पताल की छत पर चढ़े

  • चार नर्सों का आमरण अनशन जारी
  • नर्सोें में सरकार के खिलाफ बढ़ रहा रोष

पटियाला(खुशवीर सिंह तूर)। ठेका अधारित नर्सें, दर्जा चार कर्मचारी व ऐनसिलरी स्टाफ की ओर से रेगुलर होने की मांग को लेकर राजिन्द्रा अस्पताल के मैडीकल सुपरडैंट की छत पर शुक्रवार को तीसरे दिन भी दो नर्सें व एक कर्मचारी डटा हुआ है। इसके साथ ही जहां चार नर्सों की ओर से आमरण अनशन भी शुरू किया हुआ है वहीं ही चार सदस्यों की ओर से भूख हड़ताल शुरू कर दी गई है। इन नर्सों की ओर से शुक्रवार को रोष के तौर पर ओपरेशन थियेटर भी बंद कर दिया गया है। वैसे इन के धरने संबंधी किसी भी कांग्रेसी नेता या अधिकारी की ओर से पहुंचकर स्थिती संबंधी जानकारी हासिल नहीं की गई।

जानकारी अनुसार अपनी रेगुलर होने की मांग को लेकर इन नर्सिंग एसोसिएशन, दर्जा चार कर्मचारी व ऐनसिलरी स्टाफ की ओर से पिछले कई सालों से अपना संघर्ष शुरू किया हुआ है। आज तीसरे दिन राजिन्द्रा अस्पताल के मैडीकल सुपरडैंट के कार्यालय की छत पर नर्सों की अध्यक्ष करमजीत कौर औलख, बलजीत कौर खालसा और सत्तपाल सिंह डटे हुए हैं। इसके साथ ही अध्यक्ष करमजीत कौर औलख, सन्दीप कौर बरनाला व बलजीत कौर खालसा की ओर से भी आमरण अनशन कल से शुरू किया हुआ है। इनकी हालत लगातार बिगड़Þती जा रही है।

सरकार द्वारा चुनावों के समय किए वायदे नहीं किए जा रहे पूर : नेता

नेताओं ने कहा कि कांग्रेस सरकार की ओर से चुनावों से पहले वायदे किए गए थे, परंतु अब जब कुर्सी पर बैठ गए तो उन वायदों को भुलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वह रेगुलर होने की मांग तक अपना संघर्ष से पीछे नहीं हटेंगे चाहे इस लिए उनको कोई भी कदम क्यों न उठाना पड़े। उल्लेखनीय है कि कल नर्सों की स्वास्थ्य मंत्री और सेहत विभाग के डीआरएमई के साथ मीटिंग हुई थी जिसका कोई निष्कर्ष नहीं निकला, जिसके बाद इनमें और रोष पैदा हो गया। नर्सों के धरने को देखते अस्पताल में पुलिस की ओर से सुरक्षा के सख़्त प्रबंध किये हुए हैं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

 

लोकप्रिय न्यूज़

To Top