पूर्व पार्षद हरीश शर्मा व राजेश शर्मा द्वारा आत्महत्या की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए – बजरंग गर्ग

0
Bajrang Garg

पानीपत (सन्नी कथूरिया)। हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व हरियाणा कान्फैड के पूर्व चेयरमैन बजरंग गर्ग ने हरीश शर्मा की बेटी अंजली शर्मा व उनके भाई सतीश शर्मा व पानीपत के व्यापारी प्रतिनिधियों से बातचीत करने के उपरांत कहा कि पुलिस द्वारा पूर्व पार्षद हरीश शर्मा व उनकी बेटी अंजली शर्मा के खिलाफ विभिन्न धाराओं के नाजायज केस दर्ज करके हरीश शर्मा को नाजायज तंग करने से प्रदेश की आम जनता में बड़ा भारी रोष है। जबकि हरीश शर्मा पटाका व्यापारियों की मदद के लिए आंदोलन कर रहे थे। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा की पुलिस द्वारा हरीश शर्मा पर नाजायज तंग करने के कारण हरीश शर्मा को आत्महत्या करनी पड़ी। इसके लिए पूरी तरह पानीपत पुलिस अधीक्षक, चौकी इंचार्ज व एसआई दोषी है।

यह भी पढ़े – ड्रग्स केस: एनसीबी ने कॉमेडियन भारती के घर मारा छापा

सरकार को इन तीनों के खिलाफ आत्महत्या के लिए हरीश शर्मा को मजबूर करने व झूठी एफ.आई. आर. करने पर इन तीनों पर एफ.आई.आर. दर्ज करके तुरंत प्रभाव से बर्खास्त किया जाए। जब रक्षक ही भक्षक बन जाए तो प्रदेश के व्यापारी व आम जनता का क्या होगा। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि प्राथमिक जांच में सामने आ गया है की पूर्व पार्षद हरीश शर्मा पर जो विभिन्न धाराओं का केस जो बनाया गया वह झूठा बनाया गया है, जबकि उनके ऊपर कोई केस बनता ही नहीं था।

यह केस सिर्फ पुलिस ने अपने निजी स्वार्थ के लिए झूठा बनाया है। इस सारे प्रकरण की सरकार को उच्च स्तरीय जांच कराकर दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए ताकि जो भी सरकारी अधिकारी अपने निजी स्वार्थ के लिए प्रदेश के व्यापारी व आम जनता को तंग करते हैं उनको नसीहत मिल सके अगर सरकार ने दोषी पुलिस अधिकारीयों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करके उनको बर्खास्त नहीं किया व पीडि़त परिवार को न्याय नहीं मिलता तो व्यापार मंडल व्यापारी प्रतिनिधियों की बैठक बुलाकर आंदोलन करते हुए धरना व प्रदर्शन करेगा।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।