उत्तराखंड में बाढ़ ने मचाई तबाही, अब तक 46 की मौत, 11 लापता

0
129
Flood in Uttarakhand

देहरादून (एजेंसी)। उत्तराखंड में लगभग 48 घंटे हुई भारी वर्षा, अतिवृष्टि और भूस्खलन की चपेट में आने से अब तक कुल 46 लोगों की मौत हो चुकी है और 11 अन्य अभी भी लापता है। इस आपदा में कुल 12 लोग घायल अवस्था में चिकित्सालयों में उपचाराधीन हैं। आपदा में कुल नौ भवन आंशिक अथवा पूर्णतया क्षतिग्रस्त हुए हैं। आधिकारिक प्रवक्ता ने बुधवार सुबह बताया कि मंगलवार को अतिवृष्टि के कारण नैनीताल जिले में 28, अल्मोड़ा जिले में छह, चंपावत और रुद्रपुर में दो-दो तथा बागेश्वर में एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है। इसके साथ ही, कुल 10 लोग घायल हुए और 11 अभी लापता है।

उन्होंने बताया कि एक ही दिन में अतिवृष्टि और भूस्खलन से कुल नौ भवन क्षतिग्रस्त हुए। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व सोमवार को पौड़ी जिले में तीन, चंपावत में दो और पिथौरागढ़ में एक व्यक्ति की मौत हुई। इसके साथ ही दो व्यक्ति घायल हुए और एक मकान क्षतिग्रस्त हुआ। उन्होंने बताया कि रविवार को अतिवृष्टि से चंपावत जिले में एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है और 12 अन्य घायल हो गये। सूत्रों के अनुसार, अभी तक पिछले लगभग 48 घंटे में राज्य में भारी बारिश के कारण हुये भूस्खलन में कुल 46 लोगों की मौत हुई है, 11 अन्य अभी भी लापता हैं और 12 व्यक्ति घायल अवस्था में उपचाराधीन है। इस अवधि में कुल नौ भवन पूर्ण रूप से अथवा आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं।

धामी ने आपदाग्रस्त क्षेत्र में जनसमस्याएं सुनी

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिह धामी ने बुधवार सुबह आपदाग्रस्त कुमायूं मण्डल के काठगोदाम स्थित सर्किट हाउस में जनसमस्याएं सुनी। धामी ने गौलापर क्षेत्रवासियों को आश्वस्त किया कि गौलापुल के क्षतिग्रस्त एप्रोच वॉल का निर्माण 15 दिन के भीतर प्रारम्भ कर दिया जायेगा। क्षेत्र के प्रधान संगठन भी क्षेत्र की समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री से मिले, जिस परउन्होंने प्रधानों को आश्वस्त किया कि उनकी समस्याओ का प्राथमिकता से निराकरण किया जायेगा।

उन्होने कहा कि सरकार हमेशा जनता के साथ है उनकी मदद के लिए हमेशा तत्पर है। उन्होने कहा कि आपदा की इस घड़ी में धैर्य बनाये रखें, समस्याओं का प्राथमिकता से निदान किया जायेगा। इस अवसर पर आपदा प्रबन्धन मंत्री डा0 धनसिह रावत, महापौर डा0 जोगेन्द्रपाल सिह रौतेला, सहित डीजीपी अशोक कुमार, आयुक्त सुशील कुमार, डीआईजी नीलेश आनन्द भरणे, जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ब्याल, अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी के अलावा जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।